Aligarh

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में रेड जोन में आने वाले क्षेत्रों जैसे जवां, इगलास और बिजौली में कक्षा 8 तक के सभी सरकारी स्कूल खुलवा दिए गए। बच्चे स्कूल पहुंचे तो सोशल डिस्टेंसिंग को भूल उन्हें सामान्य कक्षा की तरह पास पास बैठा दिया गया।

यूपी के अलीगढ़ से बड़ी खबर आ रही है। अलीगढ़ में लोगों को लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस पर भयंकर पथराव किया गया है। इस पत्थरबाजी में एक पुलिसकर्मी गंभीररूप से घायल हो गया है।

कोरोना वायरस के कारण घोषित लॉकडाउन के कारण लोग अपने अपने घरों से दूर अन्य प्रदेशों में फंसे हुए हैं, इन्हें सरकारों के प्रयास से शुरूआती दिनों में लाने का कदम उठाया गया था, हालांकि अब पूरी तरीके से आवागमन में प्रतिबन्ध को लेकर पूरी की पूरी एक बारात ही फंस गयी है, जिसकी विदाई 18 दिनों के बाद भी नहीं हो सकी।

कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। सभी सरकारें आम लोगों से सोशल डिस्टेंस मेंटेंन करने को कह रही है। इसके साथ ही वायरस के खतरे को देखते हुए कोरोना के संदिग्धों को आइसोलेशन में रखा जा रहा है, लेकिन इस बीच एक ऐसी खबर आई है जिसके बाद हड़कंप मच गया है।

रंगों के त्‍योहार होली हो देखते हुए उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में सांप्रदायिक सौहार्द्र को बनाए रखने के लिए पुलिस-प्रशासन एकदम सतर्क हो गई है।

देश में CAA के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन से सब लोग वाकिफ है, हर तरफ इसे लेकर बवाल चल रहा है।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में पति-पत्नी के बीच आए दिन की कलह का कोपभाजन छह माह की बच्ची को होना पड़ा। पति की गैर मौजूदगी में पत्नी ने अपनी छह माह की बच्ची को पीट पीटकर मार डाला।

अलीगढ मे सीएए के विरोध में जबरदस्त तनाव पैदा हो गया है। प्रदर्शनकारियों के जबरदस्त विरोध के चलते पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा है।