Aligarh rape case

अल्पसंख्यक समुदाय के युवक से प्यार करना एक राष्ट्रीय खिलाड़ी को भारी ही नही, बल्कि इतना कष्टदायक और दर्दनाक असर पड़ेगा, जो उसने कभी सोचा भी था। प्यार के लिए घर-परिवार तक युवती ने छोड़ दिया। माता-पिता का लाड-प्यार उस युवक के लिए भूल गयी, जिसने उसकी जिंदगी बद से बदतर कर दी।

इस मामले पर जब तहकीकात की गई तो पता चला की इलाके के रहने वाले लोगों ने अपनी इच्छा से ये बोर्ड लगवाया है। ये पूरे मोहल्ले में लगा हुआ है। जिन लोगों के घरों पर बोर्ड लगे है उन महिलाओं से बात करने पर उन्होंने बताया कि आज के समाज में बच्चियो के साथ हो रही दरिंदगी के बाद हमे ये कदम उठाना पड़ा है।

हरियाणा के बल्लभगढ़ से एक मुस्लिम परिवार एक समारोह में शामिल होने के लिए वाहन से जा रहा था और उनके साथ उनकी पारिवारिक मित्र पूजा चौहान भी थीं।

अलीगढ़ में ढाई साल की जिस मासूम बच्ची की निर्मम हत्या की गई, उसके पिता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने से इनकार कर दिया है। पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दफ्तर से बुलावा भेजा गया था, जिस पर उन्होंने इनकार कर दिया।

अलीगढ़ ताला नगरी में ढाई वर्ष की बालिका की नृशंस हत्या के बाद से माहौल में तनाव बना है। लोगों में हत्या को लेकर काफी रोष है। चार आरोपितों की कल गिरफ्तारी होने के बाद भी लोगों का गुस्सा शांत नहीं हो रहा है।

देश में हर आधे घंटे में एक 'बच्ची' का बलात्कार हो रहा है और हर घंटे इंसानियत शर्मसार। वो बात और है कि इस पर पिछले साल स्वाति मालिवाल से लेकर बॉलीवुड की कई चर्चित हस्तियां सड़कों पर उतर कर विरोध दर्ज करा चुकी है।

यूपी के अलीगढ़ में ढाई साल की जिस बच्ची को दरिंदगी के साथ मार दिया गया है। उस बच्ची की मां ने अपराध करने वाले आरोपियों पर बड़ा आरोप लगाया है। बच्ची की मां ने कहा है कि असलम नाम के आरोपी ने अपनी 4 साल की बेटी के साथ भी रेप किया था।