america

भारत में चीनी ऐप्स के बंद होने के बाद अब अमेरिका भी ये सख्त कदम उठाने जा रहा है। ऐसे में चीन ने शनिवार को कहा कि वह वीचैट और टिकटॉक एप के डाउनलोडिंग को रोकने के अमेरिका के कदम का घोर विरोध करेगा।

भारत के बाद चीन अब ताइवान के साथ नापाक चालें चल रहा है। चीन के 18 फाइटर जेट्स शुक्रवार को ताइवान के हवाई इलाके में घुसे थे। ताइवान के हवाई इलाके में चीनी फाइटर जेट्स कुछ मिनट तक उड़े फिर लौट गए।

दुनिया कोरोना महामारी की चपेट में बीते कई महीने से है। कोरोना का कहर झेल देश तबाही की कगार पर हैं। अमेरिका में कोरोना महामारी की वजह से हालात बद से बदतर हो गए हैं।

अमेरिका ने भी इस ऐप पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर ली है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (U.S. President Donald Trump) ने अमेरिका में रविवार से इस चीनी ऐप की डाउनलोडिंग (Downloading) पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की तारीख नजदीक आने के साथ ही दोनों उम्मीदवारों राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बिडेन के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर और तीखा हो गया है।

चीन के साथ सीमा विवाद पर इस समय एक जरा सी भी चिंगारी युद्ध को भड़काने का काम कर सकती है। ऐसे में तनाव के दो केंद्र बिन्दू हैं। इनमें से पहला ताइवान और दूसरा भारत है।

चीन के रक्षा मंत्रालय ने दुनिया को हैरान कर देने वाला बड़ा बयान दिया है। चीनी रक्षा मंत्रालय ने अमेरिका को वैश्विक व्यवस्था और विश्व शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया है।

अमेरिका के संक्रामक रोग सलाहकार एंथनी फॉसी का कहना है कि कोरोना वैक्सीन मिलने के बावजूद 2021 के अंत तक सामान्य जीवन की वापसी की उम्मीद नहीं है।

अमेरिका में कोरोना वायरस से तबाही तो मची हुई, दूसरी तरफ उत्तरी पश्चिमी प्रशांत (पैसिफिक नॉर्थवेस्ट) के जंगलों में भयंकर आग ने आफत मचा रखी है। जंगलों की इस भीषण आग ने सैंकड़ों घरों को अपनी चपेट में ले लिया और सबकुछ जलाकर खाक कर दिया है।

अमेरिका पर कोरोना वायरस संकट के बीच अब दावानल यानी जंगल की आग से आफत टूट पड़ी है। अमेरिका के ओरेगन राज्य में जंगलों की आग की वजह से पांच लाख लोग घर छोड़ने को मजबूर हैं।