america

अमेरिका के सैन्य बेस में एक बार फिर फायरिंग की घटना सामने आई है। घटना अमेरिका के पर्ल हार्बर की है, बताया जा रहा है कि सैन्य बेस में बुधवार दोपहर फायरिंग की गई है।

ऑस्ट्रेलिया ने  पाकिस्तान को आर्थिक मदद देने से इनकार कर दिया है।आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान के लिए अमेरिका के बाद बड़ा झटका है। ऑस्ट्रेलिया की मोरिसन सरकार ने पाकिस्तान को दी जाने वाली आर्थिक मदद रोकने का फैसला किया है।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति पद के लिए साल 2020 में होने जा रहे चुनाव से कमला हैरिस ने अपना नाम वापस ले लिया है। कमला भारतीय मूल की है। वे 55 साल की है। कमला हैरिस ने बुधवार को घोषणा की कि वह अपना चुनाव प्रचार अभियान बंद कर रही हैं। हैरिस कैलिफॉर्निया की डेमोक्रेटिक सांसद हैं।

हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों के समर्थन में अमेरिका द्वारा कानून बनाए जाने के विरोध में चीन ने जवाबी कार्रवाई की है। इसके साथ ही चीन ने अमेरिकी सेना और गैर सरकारी संगठनों पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है।

गोलीबारी की यह घटना अमेरिका के न्‍यू ऑरलियंस शहर में हुई है। शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार यह गोलीबारी 11 लोगों पर की गई है। 11 लोग घायल और 2 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। 

अमेरिका के साउथ डकोटा में शनिवार रात प्लेन क्रैश में 9 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों के मुताबिक, विमान में 12 लोग सवार थे। 3 लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं। विमान ने चेम्बरलेन से उड़ान भरी थी। सभी पैसेंजर इदाहो स्थित इदाहो फॉल्स जा रहे थे।

वाशिंगटन : चुनाव में पैसे का खेल कोई नई बात नहीं है और अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव भी इससे अछूता नहीं है। पिछली बार डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव मैदान में उतरने से जिस बहस को हवा मिली थी वो इस बार दुनिया के सबसे अमीर लोगों में से एक माइकल ब्लूमबर्ग के राष्ट्रपति पद की …

मीटिंग में अमेरिका के बड़े टारगेट को निशाना बनाने की बात कही गई है, जिसमें अमेरिका की मिलिट्री बेस भी शामिल है। जानकारी के अनुसार ये मिलिट्री बेस सऊदी अरब में हैं। वहीं खबर है कि कुछ अधिकारी अमेरिका पर सीधे हमले के लिए तैयार नहीं हैं. उन्हें डर है कि कहीं अमेरिका बदले की कार्रवाई न कर दे।

क्या आप कभी भगवान् को देखें हैं, पौराणिक कथाओं के अनुसार सनातन धर्म में 33 करोड़ देवी देवता है, क्या आप जानते हैं की ईश्वर कैसा दिखता है, कैसा होता है? लेकिन अगर सभी को मिलकर जो एक ईश्वर है अगर हमें उसका चेहरा देखना हो कैसे देखेंगे?

अमेरिका ने एक बार फ‍िर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। अमेरिका ने चीन और चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (CPEC) को लेकर पाक को सख्‍त चेतावनी देते हुए कहा है कि पाकिस्‍तान इस समझौते पर अपने कदम पीछे नहीं खींचता तो इसके गंभीर नतीजे होंगे।