america

दुनिया में अमेरिका इतनी बड़ी ताकत माना जाता है कि अधिकांश देश उसका पिछलग्गू बनने में ही अपनी भलाई समझते हैं। कम ही नेता ऐसे हुए हैं जिन्होंने अमेरिका को सीधी चुनौती दी हो। ऐसे नेताओं में सबसे महत्वपूर्ण नाम है क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो का। कास्त्रो ने सारी जिंदगी अमेरिका जमकर विरोध …

शरण मांग रहे नागरिक के साथ ऐसा बर्ताव किया गया कि खून के जरिए बही उसकी मांग। अमेरिका में शरण के लिए मांग कर रहे एक भारतीय नागरिक ने दावा किया हैं कि उसे अमेरिका के हिरासत केंद्र में भूख हड़ताल पर रहते समय पाइप के जरिए जबरदस्ती खाना खिलाया।

पाकिस्तानी समाचार पत्र एक्सप्रेस ट्रिब्यून में छपी रिपोर्ट के अनुसार इस्लामाबाद अमेरिका से यह आर्थिक मदद 'पाकिस्तान एन्हैंस पार्टनरशिप एग्रीमेंट (पेपा) 2010' के जरिए हासिल करता है।

जम्मू-कश्मीर के अनुच्छेद 370 को लेकर जहां एक तरफ विपक्ष हगांमा कर रहा है वही दूसरी तरफ पाकिस्तान की भी हालत खराब है। बीते दिन पहले अमेरिका ने पाक और भारत को अपने आपसी मामलो को सुलझाने के लिए बात करने को कहा था।

मालूम हो, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ समय पहले मुलाक़ात की थी। इस मुलाक़ात का हवाला देते हुए ट्रंप ने कहा कि दोनों देशों के बीच जम्मू-कश्मीर मुद्दे को लेकर बात हुई।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी के परिवार को देश के प्रमुख राजनीतिक परिवारों में गिना जाता है। यह परिवार अमेरिका के सबसे रईस परिवारों में भी शामिल है और इसे शाही परिवार जैसा दर्जा हासिल है मगर यह परिवार अस्वाभाविक मौतों के लिए अभिशप्त रहा है। यह सिलसिला अभी खत्म नहीं हुआ है। …

अमेरिका ने आगे ये भी कहा कि पाकिस्तान को भारत में आतंकवाद फैलाने का काम नहीं करना चाहिए। इसके अलावा अमेरिका ने ये भी कहा कि पाकिस्तान को भारत की सीमा से सटे लाइन ऑफ कंट्रोल की तरफ घुसपैठ नहीं करनी चाहिए।

वाशिंगटन : अमेरिका में 16 वर्षों के बाद एक बार फिर मौत की सजा बहाल कर दी गई है। अटॉर्नी बिल बार ने अमेरिकी जेलों के संघीय कार्यालय को निर्देश दिया है कि वह एक नए घातक इंजेक्शन प्रोटोकॉल को अपनाए ताकि मौत की सजा दी जा सके। पिछले साल अमेरिका में 25 लोगों को …

ट्रंप ने ओवल ऑफिस में प्रधानमंत्री खान के साथ अपनी बैठक के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा था कि, ‘‘यदि मैं मदद कर सकता हूं, तो मैं एक मध्यस्थ होना पसंद करूंगा। अगर मैं मदद करने के लिए कुछ भी कर सकता हूं, तो मुझे बताएं।’’

वॉशिंगटन: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिका के साथ संबंधों में सुधार के मकसद के साथ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से सोमवार को वार्ता करेंगे। पाकिस्तान और अमेरिका के संबंध तब से प्रभावित हुए जब ट्रंप ने सार्वजनिक तौर पर पाकिस्तान की आलोचना की, उसे दी जाने वाली सैन्य सहायता रोक दी तथा उसे आतंकवाद से …