america

स्थानीय पुलिस ने बताया कि फायरिंग की यह घटना मिडलैंड के पास ओडेसा इलाके में हुई है । वहीं वारदात को अंजाम देने वाले एक बंदूकधारी को सिनर्जी मूवी थिएटर के पास मार दिया गया है, उसकी उम्र 30 साल बताई जा रही है।

बता दें कि दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी एप्पल के CEO टिम कुक ने 23,700 शेयर दान किये हैं। कंपनी ने इसकी जानकारी रेग्युलेटरी फाइलिंग में दी है। दान किए 23,700 शेयरों की किमत 36 करोड़ रुपये (5 मिलियन डॉलर) है।

हाल की कुछ घटनाओं ने यह चिंता पैदा कर दी है कि अगर इन दोनों के बीच बढ़ते तनाव को कम नहीं किया गया तो एक नया वैश्विक संकट दुनिया के तमाम देशों की मुश्किलें बढ़ाने आ सकता है।

भारत के पीएम नरेंद्र मोदी जब भी किसी विदेशी दौरे पर जाते हैं तो काफी चर्चा का विषय बन जाते हैं। वैसे तो पीएम मोदी का लोगों से मिलने का अपना अलग ही अंदाज है। कभी वह गले मिलते हैं, कभी हाथों से थपकी देते हैं तो कभी हाथों में हाथ डाले चलते हैं। ऐसा ही सोमवार 26 अगस्त को फ्रांस के खूबसूरत शहर बिआरित्ज में हुआ।

23 साल की मरयान कैश और 20 साल की नन मैक्कर्थी पर चोरी और अन्य मामलों में केस दर्ज किया गया है । दोनों महिलाएं 16 अगस्त को बम्बी बेबी स्टोर की चोरी की घटना में शामिल रही थीं ।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अक्सर अपने बयानों के लिए चर्चा में रहते हैं। इस बार वह अपने एक बयान को लेकर फिर चर्चा में हैं। इस बार वह अपने परमाण हमले के बयान को लेकर चर्चा में हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G-7 बैठक के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाक़ात कर सकते हैं। इस दौरान दोनों नेता कश्मीर मुद्दे पर खुलकर चर्चा भी कर सकते हैं। इसके अलावा दोनों नेता व्यापार पर बातचीत कर सकते हैं।

चीन और अमेरिका में ट्रेड वॉर को लेकर भिड़ंत जारी है। चीन ने फिर से अमेरिकी उत्पादों पर दो नए शुल्क लगा दिए है। जिसके बाद से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप काफी भड़के हुए हैं। ट्रंप ने बीजिंग पर हमला बोला और शुल्क बढ़ाने को 'अनुचित व्यापारिक संबंध' बताते हुए कहा कि चीन को 75 बिलियन डॉलर्स के अमेरिकी उत्पादों पर नए शुल्क नहीं लगाने चाहिए।

दुनिया में अमेरिका इतनी बड़ी ताकत माना जाता है कि अधिकांश देश उसका पिछलग्गू बनने में ही अपनी भलाई समझते हैं। कम ही नेता ऐसे हुए हैं जिन्होंने अमेरिका को सीधी चुनौती दी हो। ऐसे नेताओं में सबसे महत्वपूर्ण नाम है क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो का। कास्त्रो ने सारी जिंदगी अमेरिका जमकर विरोध …

शरण मांग रहे नागरिक के साथ ऐसा बर्ताव किया गया कि खून के जरिए बही उसकी मांग। अमेरिका में शरण के लिए मांग कर रहे एक भारतीय नागरिक ने दावा किया हैं कि उसे अमेरिका के हिरासत केंद्र में भूख हड़ताल पर रहते समय पाइप के जरिए जबरदस्ती खाना खिलाया।