app

गूगल ने प्ले स्टोर से एक एप को हटा दिया है। गूगल ने इस एप को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की मांग पर हटाया है। यह अलगाववादी और भारत विरोधी अभियान चला रहा था। गूगल ने जिस एप को हटाया है उसका नाम '2020 सिख रिफरेंडम' है।

अगर आप ऐसा करते हैं तो कॉलर उसी वक्त आपकी निजी जानकारियां हासिल कर लेता है और आपके पैसे उड़ा लेता है। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं इससे बचने के तरीके

यह ऐप मौजूदा समय में आईओएस और एंड्राइड स्मार्टफोन दोनों में उपलब्ध है। और इसके लाखों यूज़र्स हैं। माना जा रहा है कि अगर गूगल इसे खरीद लेती है तो ये लोगों में और भी ज़्यादा पॉपुलर हो जाएगी।

आम आदमी पार्टी के बागी नेता कपिल मिश्रा ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) का थाम लिया। इस दौरान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता विजय गोयल मौजूद थे। कपिल मिश्रा ने एक दिन पहले ही ट्वीट कर कहा था कि वह शनिवार को 11 बजे बीजेपी में शामिल होंगे।

एक-एक बच्चे की सेहत पर नजर रखेगा आरबीएसके का नया एप्प पूरे यूपी में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम का नया एप्प लागू किया जा चुका है। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर पहले से कुछ जनपदों में लागू था जिसकी सफलता के बाद पूरे प्रदेश में लागू कर दिया गया। नयी खूबियों के साथ लांच नया एप्प मोबाइल मेडिकल टीम के लिए भी काफी सहूलियत भरा।

लोकसभा चुनाव के लिए दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) एवं कांग्रेस में गठबंधन को लेकर बनी असमंजस की स्थिति के बीच भाजपा ने मंगलवार को कहा कि जनता को बेवकूफ बनाने के लिए ये दोनों दल एक दूसरे पर दोषारोपण कर रहे हैं, लेकिन अंत में दोनों दिल्ली में मिलकर चुनाव लड़ेंगे।

असम में बोंगईगांव जिला प्रशासन ने मतदाताओं विशेष तौर पर पहली बार मतदान करने वालों को लोकसभा चुनाव में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने को लेकर जागरुक बनाने के लिए एक विशिष्ट मोबाइल ऐप विकसित किया है।

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा है कि गंठबंधन के लिए अरविंद केजरीवाल ने उनसे संपर्क नहीं किया है। दिल्ली की पूर्व सीएम ने कहा कि केजरीवाल की ओर से उनसे या फिर राहुल गांधी से गठबंधन को लेकर कोई बात नहीं की गई है।

अगर आपको नकली नोटों से डर लगता है तो डरने की जरूरत नहीं है। अब आप एक एप के जरिए नकली नोटों की पहचान कर सकते हैं। आईआईटी खड़गपुर में रिसर्च कर रहे छात्रों ने स्मार्टफोन पर काम करने वाला एक ऐसा ही ऐप तैयार किया है।

उत्तर प्रदेश में केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि' योजना पर सपा, बसपा, कांग्रेस तथा आम आदमी पार्टी ने हमला बोला है। इसे विपक्षी दल के नेताओं ने किसानों का अपमान तक बता दिया है।