aquarius

वृषभ राशि के जातक शांत और कोमल हृदय वाले होते हैं। राशिचक्र में इस राशि का दूसरा स्थान है। इस राशि का स्वामी शुक्र है। इस राशि वाले स्वभाव से अंतर्मुखी और विश्वसनीय होते हैं। वृष राशि: स्वामी ग्रह – मंगल; मित्र ग्रह – सूर्य, बृहस्पति; शत्रु ग्रह – बुध; सामान्य संबंध - शुक्र, शनि। वृष राशि के जातक परिश्रमी और धैर्यवान होते हैं।

नाम के पहले अक्षर का काफी अधिक महत्व बताया गया है। पुरानी मान्यताओं के अनुसार व्यक्ति के जन्म के समय चंद्रमा जिस राशि में होता है, उसी राशि के अनुसार नाम का पहला अक्षर निर्धारित किया जाता है। चंद्र की स्थिति के अनुसार ही हमारी नाम राशि मानी जाती है।

माह –फाल्गुन, तिथि – चतुर्दशी ,पक्ष – शुक्ल, वार – रविवार, नक्षत्र – अश्लेषा , सूर्योदय – 06:14, सूर्यास्त – 18:52,। आज का दिन सभी के लिए कैसा रहेगा। जानते हैं राशिफल

माह-फाल्गुन, तिथि- पंचमी, दिन- शनिवार,पक्ष-शुक्ल नक्षत्र-भरणी, सूर्योदय-06.56 सूर्यास्त-18.12। जानिए कैसा रहेगा 12 राशियों के लिए  राशिफल

वार-शनिवार,अयन-उत्तरायन, मास:- माघ, पक्ष- शुक्ल , नक्षत्र-अश्विनी, तिथि-सप्तमी,आज शनिवार है पीपल में जल दें। जानते हैं आज कैसा रहेगा 12 राशियों का दिन..

माह –माघ,  तिथि – द्वादशी ,पक्ष –कृष्ण,वार – मंगलवार,नक्षत्र – ज्येष्ठा, सूर्योदय –07.22,सूर्यास्त – 17:39। आज का शुभ मुहूर्त 12.11-12.53। आज मगंलवार बजरंगबली का दिन है। अगर जातक आज सुंदरकांड करेंगे तो लाभ होगा।जानते हैं 12 राशियों के लिए दिन कैसा रहेगा।

तिथि- प्रतिपदा, वार-शनिवार,पक्ष-कृष्ण, माह-माघ, नक्षत्र- पुनर्वसु,सूर्योदय- 7.20, सूर्यास्त-17.37 । शनिवार के दिन आज से माघ मास की शुरुआत हो रही है जातक आज से माघ स्नान कर सकते है। और भगवान को तिल और गुड़ पूरे मास चढ़ाएं व दान करें। भगवान की कृपा बनी रहेगी। जानते है 12 राशियों का दिन आज कैसा गुजरेगा।

माह-पौष, पक्ष-शुक्ल, तिथि-चतुर्दशी, नक्षत्र-मृगशिरा, दिन-बृहस्पतिवार, सूर्योदय-7.20, सूर्यास्त-17.36, चंद्रमा-मिथुन राशि। बृहस्पतिवार को करण-वणिज, और योग ब्रह्म के साथ मृगशिरा नक्षत्र है। इसके कारण आज के दिन कई अशुभ योग बनेगा। तो जानते हैं ऐसे में बृहस्पतिवार किसा राशि के लिए शुभ और किस राशि के लिए अशुभ होगा।

माह पौष, पक्ष-शुक्ल ,पक्ष,वार-बुधवार,तिथि-त्रयोदशी,नक्षत्र- , राहुकाल-12:22 - 13:58, सूर्योदय-7.20 ,सूर्यास्त-17:35 । आज प्रदोष का व्रत है इस व्रत को करने से संतान स्वस्थ रहती है। इसमें भगवान शिव पार्वती समेत गणेश कार्तिक की पूजा होती है।

 माह – पौष,तिथि – चतुर्थी ,पक्ष – शुक्ल,वार – सोमवार,नक्षत्र – धनिष्ठा , सूर्योदय – 07:13, सूर्यास्त – 17:33,चौघड़िया- अमृत – 07:17 से 08:34, शुभ – 09:50 से 11:07, चर – 13:40 से 14:56, लाभ – 14:56 से 16:13।