Archaeological Survey of India

ताजमहल देखने आने वालों की ड्रेस (दुपट्टे या गमछे) पर रंग अथवा कुछ धार्मिक नाम-प्रतीक लिखे होने पर उनकी एंट्री पर बैन नहीं है। आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने इस तरह का कोई बैन नहीं लगाया है।

ज्यादा भीड़ भाड़ वाले दिनों के दौरान ताजमहल पर प्रति घंटे नौ हजार सैलानियों की संख्या निर्धारित किए जाने पर विचार चल रहा है और इसके लिए नीरी ने एएसआई को ताजमहल पर लेजर काउंटिंग सिस्टम लगाने का भी सुझाव दिया है।