arvind kejriwal

बीजेपी की ओर से प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने प्राइवेट अस्पतालों के चार्ज को फिक्स करने की मांग की।  उन्होंने कहा कि यह मौके एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का नहीं है, हमें साथ मिलकर कोरोना से लड़ाई लड़नी होगी।

रविवार को गृह मंत्री अमित शाह ने मुख़्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप राज्यपाल अनिल बैजल संग बैठक की। शाह और केजरीवाल के बीच एक ही दिन में दो बार बैठकें हुईं। दूसरी बैठक में दिल्ली के तीन नगर निकायों के शीर्ष पदाधिकारी भी शामिल हुए।

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए रविवार को गृहमंत्री अमित शाह ने बैठक बुलाई थी। ये बैठक करीब 1 घंटे 20 मिनट चली। इस हाई लेवल मीटिंग में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल सहित गृह मंत्रालय के अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं जिसके बाद केंद्र सरकार हरकत में आ गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक में खासतौर से दिल्ली को लेकर चर्चा हुई है।

देशभर में कोरोना वायरस का संक्रमण दिन-प्रति-दिन बढ़ता ही जा रहा है। हर दिन हजारों की तादात में संक्रमितों के आंकड़ो में बढ़ोत्तरी देखी जा रही है।

अरविंद केजरीवाल के फैसले को चाहे उप राज्यपाल अनिल बैजल ने एक ही दिन में उलट दिया हो, दिल्ली के मुख्यमंत्री ने एक बड़ी बहस को राष्ट्र के लिए खोल दिया है कि देश की राजधानी आखिर किसकी है और किन लोगों के लिए है?

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की तबियत खराब होने के बाद सोमवार को उनका कोरोना टेस्ट होना था, जिसपर सभी की निगाहें टिंकी हुईं थीं। वहीं अभी अभी उनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट आ गयी। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

दिल्ली में कोरोना से मामले बढ़ते जा रहे हैं, कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तबियत खराब हो गई है। मुख्यमंत्री को हल्का बुखार और खांसी है। कोरोना के लक्षण मानते हुए मुख्यमंत्री ने खुद को अपने आवास पर आइसोलेट कर लिया है।

पूरे देश में कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। खासकर दिल्ली में कोरोना संक्रमण चरम पर है।   अब सबका इलाज हो सकेगा दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल  ने केजरीवाल सरकार  के उस फैसले को एक दिन बाद ही पलट दिया, जिसमें कहा गया था कि दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्लीवासियों का इलाज होगा।

एलजी अनिल बैजल ने सीएम केजरीवाल के फैसले पर रोक लगा दी। इसपर अब सीएम केजरीवाल ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि एलजी ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है।