ASHOK GAHLOT

हालात से निपटने के लिए सचिन पायलट को मनाने की सभी कोशिशें जारी हैं। लेकिन सचिन पायलट सीएम बनाए जाने की मांग पर अड़े हैं। यही वजह है कि जब तक उन्हें इस बाबत आश्वासन नहीं मिल जाता है वह समझौता नहीं करेंगे। हालांकि कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी जल्द ही ऐसा फार्मूला दे सकती हैं जो पायलट मान जाएंगे।

अशोक गहलोत ने सचिन पायलट को अपनी ताकत का एहसास कराते हुए डिप्टी सीएम के पद के साथ ही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से भी हटवा दिया है।

राजस्थान में मचे सियासी घमासान को लेकर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा सरकार और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर बड़ा आरोप लगाया है। वहीं केंद्रीय मंत्री पर केस दर्ज कर कार्रवाई की मांग की।

भाजपा ने इसके लिए गहलोत की घेरेबंदी शुरू कर दी है और कहा है कि मुख्यमंत्री को विधानसभा में शक्ति परीक्षण में अपना बहुमत साबित करना चाहिए।

राजस्थान की सियासत मे एक बार फिर से खलबली मच गई है। सीएम और डिप्टी सीएम के बीच शुरू हुई सियासी जंग अब काफी आगे बढ़ चुकी है। सीएम गहलोत...

राजस्थान की गहलोत सरकार में सत्ता का संग्राम छिड़ चुका है। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट खुलकर बगावत पर उतर आये हैं। आज 10.30 बजे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर विधायक दल की बैठक बुलाई गयी है, जिसमें सचिन पायलट ने शामिल होने से इनकार कर दिया।

सीएम अशोक गहलोत ने आज रात सीएम निवास पर 8 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई थी, जिसे अब टाल दिया गया है। ये बैठक अब कल सुबह 10 :30 बजे होगी।

राहुल गांधी ने 2017 में कांग्रेस के अध्यक्ष पद की कमान संभाली थी। मगर लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद उन्होंने अपनी जिम्मेदारी से इस्तीफा दे दिया था।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव लोकतंत्र को बचाने के लिए है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रवाद फैलाने में ‘‘तानाशाहों’’ का अनुसरण कर रहे हैं।

राजस्थान में कांग्रेस अध्यक्ष और नवनिर्वाचित विधायक के साथ उप मुख्‍यमंत्री घोषित सचिन पायलट मुख्यमंत्री बनने का ख्याब देख रहे थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। वैसे राजस्थान में सीएम पद के लिए शुक्रवार को घमासान जारी था।