assam flood

मानसून ने अब अपनी रफ्तार पकड़ ली है। कई राज्यों में इतनी ज्यादा बारिश हो गई, जिससे लोगों को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। इसके साथ ही भारी बारिश के अलावा आसमानी बिजली ने इस बार शुरूआती दौर से ही अपना प्रचंड रूप दिखाया है।

देश में कोरोना महामारी का संकट तो कम हो नहीं रहा है ऐसे में असम की ब्रह्मपुत्र नदी भी अपनी तीव्र उफान पर है। असम की ये नदी खतरे से निशान के ऊपर बह रही है।

बिहार और असम में बाढ़ और बारिश काल बनकर वहां के जन-जीवन में त्राही-त्राही मचा रखी है। बाढ़ की वजह से मरने वालों की संख्या लगभग 150 तक पहुंच चुकी है। वहीं, मरने को अलावा करीब 1.15 करोड़ लोगों का जीवन इससे प्रभावित हुआ है।

गुवाहाटी: असम के 24 जिलों में लगभग 12 लाख लोग बाढ़ का प्रकोप झेल रहे हैं। वहीं राज्य भर में इस प्राकृतिक आपदा में मरने वालों की संख्या 59 हो गई। राज्य में बाढ़ के हालात में मामूली सुधार हुआ है, लेकिन अधिकारियों ने कहा, कि आधा काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान डूबा हुआ है। अब तक …