astro

शनि-गुरु-वक्री होने से भी भूकंप की स्थिति का सामना करना पड़ेगा। धर्म-क्षेत्र मिडिया, फिल्म-जगत् में भी तनाव का महौल रहेगा 29 सितम्बर 2020 के बाद शांति एवं वैश्विक महामारी से मुक्ति, मेडिसीन मिलने का योग बनेगा।

हिंदू मान्यता के अनुसार मंदिर दर्शन के लिए जाने वाले हर दर्शनार्थी को परिक्रमा जरूर करना चाहिए। दरअसल, भगवान की परिक्रमा का धार्मिक महत्व तो है ही, विद्वानों का मत है भगवान की परिक्रमा से अक्षय पुण्य मिलता है, सुरक्षा प्राप्त होती है और पापों का नाश होता है।

माह- चैत्र, तिथि- तृतीया पक्ष- शुक्ल, दिन-शुक्रवार, , सूर्योदय-06.20, सूर्यास्त-18.42। जानिए कैसा रहेगा दिन....

माह-चैत्र, तिथि-तृतीया, दिन बृहस्पतिवार, पक्ष-कृष्ण, नक्षत्र- , सूर्योदय-06.20 , सूर्यास्त-18.50। कैसा रहेगा 12 राशियों के लिए आज का दिन जानिए....

माह – फाल्गुन,तिथि – एकादशी,पक्ष – शुक्ल,वार – शुक्रवार ,नक्षत्र – पुनर्वसु ,सूर्योदय – 06:14,सूर्यास्त – 18:54। आज कैसा रहेगा शुक्रवार का दिन 12 राशियों के लिए...

माह-फाल्गुन, पक्ष- कृष्ण, तिथि- तृतीया, दिन- बुधवार, नक्षत्र- उ.भा., सूर्योदय-0656 सूर्यास्त-18.10 , आज बुधवार के दिन 12 राशियों के भाग्य में क्या  है जानिए....

आपका जन्म किसी भी साल के फरवरी में हुआ हो, ज्योतिष के अनुसार आप में गजब की आकर्षण शक्ति है। आप में दो और अदभुत शक्तियां हैं एक अन्तर्बोध क्षमता यानी इंट्यूशन पॉवर और दूसरी ग्रहण करने की क्षमता। जिसे अंग्रेजी में ग्रॉस्पिंग पॉवर कहा जाता है।

हमारी जैसी सोच रहती है। उसी के अनुरूप हाथों की रेखाओं बदलाव होते रहते हैं। सामान्यत: हमारे हाथों की कई छोटी-छोटी रेखाएं बदलती रहती हैं, परंतु कुछ खास रेखाओं में बड़े परिवर्तन नहीं होते हैं। इन महत्वपूर्ण रेखाओं में जीवन रेखा, भाग्य रेखा, हृदय रेखा, मणिबंध, सूर्य रेखा और विवाह रेखा शामिल है।

माह- माघ, पक्ष-कृष्ण, तिथि- दशमी, दिन-रविवार, नक्षत्र-विशाखा , सूर्योदय- 07.21, सूर्यास्त-17.38। आज रविवार के दिन सूर्य की उपासना करें सूर्य के तिल के साथ जल चढ़ाएं। जो भी रोग है वो क्षण भर में दूर हो जाएंगे। जानते हैं 12 राशियों का हाल...

दिन-मंगलवार ,तिथि- चतुर्थी और पंचमी, पक्ष-कृष्ण, माह-माघ, नक्षत्र-मघा, अभिजित काल-12.14- 12.58। राहुकाल-03.19 -4.40 तक। सूर्योदय-07.20 , सूर्यास्त-17.37। आज मगंलवार है बजरंगबली का दिन। आज दोपहर 2.49 मिनट के बाद पंचमी तिथि लगेगी। और सूर्य मकर राशि में जाएगा तो मकर संक्राति का स्नान आज नहीं कल 15 जनवरी को होगा।