astro

हिंदू धर्म में महिलाओं को लक्ष्मी माना जाता है।  कहा गया है कि जिस घर में औरतों की इज्जत होती है वहां देवताओं का वास होता है। इसी तरह महिलाओं के शरीर के कई निशान भी उन्हें भाग्यशाली बनाते हैं। समुद्रशास्त्र की मानें तो ये निशान उन्हें भाग्यशाली बनाते हैं।

ॐ मित्राय नमः , ॐ रवये नमः, ॐ सूर्याय नमः, ॐ भानवे नमः, ॐ खगाय नमः, ॐ पूष्णे नमः, ॐ हिरण्यगर्भाय नमः, ॐ मरीचये नमः, ॐ आदित्याय नमः, ॐ सवित्रे नमः, ॐ अर्काय नमः, ॐ भास्कराय नमः व ॐ श्री सवितृसूर्यनारायणाय नमः।

माह-भाद्रपद, तिथि –दशमी, पक्ष – शुक्ल,वार  रविवार, नक्षत्र – मूल ,सूर्योदय – 06:02,सूर्यास्त – 18:35, चौघड़िया चर – 07:39 से 09:12,लाभ – 09:12 से 10:46, अमृत – 10:46 से 12:19, शुभ – 13:52 से 15:25।

जयपुर: जीवन में जब हर तरह की सुख-सुविधा रहती है फिर भी सदस्यों के साथ अनबन हो तो इससे निपटने के लिए ज्योतिषीय उपाय करने की जरुरत है। अगर घर के सदस्यों में प्यार नहीं है पति-पत्नी में तकरार, भाई-भाई में क्लेश तो इससे निपटने के लिए कुछ उपाय करने की जरुरत है जिससे आपके …

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर कुछ खास उपाय किए जाए तो मनुष्य की कई मनोकामना की पूर्ति हो सकती है।  किसी भी सिद्धि प्राप्ति या मनोकामना पूर्ति के लिए चार रात सबसे सर्वश्रेष्ठ हैं। इनमें से जन्माष्टमी भी एक है। जन्माष्टमी पर आप ये उपाय कर सकते हैं-

22 अगस्त 2019 गुरुवार को षष्ठी तिथि है। भरणी, नक्षत्र, वृद्धि योग, करण : वणिज, सूर्योदय-05:53 , सूर्यास्त-18:54। जानते है 12 राशियों के लिए दिन कैसा रहेगा।

आसपास की ऊर्जा का हमारे काम और जीवन पर सीधा असर पड़ता है। अगर यह ऊर्जा सकारात्मक है तो हम सकारात्मक और खुश रहेंगे, लेकिन नकारात्मक ऊर्जा हमारे मन-मस्तिष्क पर ऐसा असर डालती है कि हम कुछ ऐसा कर बैठते हैं कि जिसका परिणाम भयावह होता है।

माह – भाद्रपद, तिथि – पंचमी – 29:32, पक्ष – कृष्ण, वार – मंगलवार, नक्षत्र – रेवती, सूर्योदय – 05:52,सूर्यास्त – 18:56

माह – श्रावण, तिथि – त्रयोदशी ,पक्ष – शुक्ल, वार – मंगलवार, नक्षत्र – उत्तराषाढ़ा ,सूर्योदय – 05:48,सूर्यास्त – 19:02।

माह – श्रावण, तिथि – द्वादशी ,पक्ष – शुक्ल, वार – सोमवार,नक्षत्र – पूर्वाषाढ़ा ,सूर्योदय – 05:48,सूर्यास्त – 19:03।