astrology

चाहे कोई भी मौका हो लोग दोस्तों और रिश्तेदारों को गिफ्ट देते है और इसमें हम सबसे पहले या तो उनकी पसंद या फिर अपनी जेब का ध्यान रखते हैं, पर क्या आप जानते हैं किसी को दिया हुआ गिफ्ट आपको कंकाल या फिर धनवान भी बना सकता है। सुनकर हैरानी होगी, लेकिन यह सच है। ब

हिन्दू धर्म में पीले रंग को शुभ माना गया है। पीला रंग शुद्ध और सात्विक प्रवृत्ति का प्रतीक माना जाता है। यह सादगी और निर्मलता को भी दर्शाता है। बसंत पंचमी के पर्व पर वैसे भी चटख पीला रंग उत्साह और विवेक का प्रतीक माना जाता है। इसके साथ सफेद रंग से जुड़ी शांति भी शामिल हो जाती है।

सूर्य पुत्र शनि को न्याय का देवता मानते हैं। 24 जनवरी 2020 से शनि धनु राशि को छोड़ देंगे और शनि अपनी स्वराशि मकर में गोचर करेंगे। धनु और मकर राशि मे पहले से ही शनि की साढ़ेसाती चल रही है। शनि की महादशा 19 साल की होती है।

कहते हैं किस्मत हमारे हाथ में ही होती है। यह किस्मत हाथ की उन रेखाओं में है जो समय के साथ बदलती रहती हैं। हथेली की रेखाओं को पढ़ कर भविष्य बताने की कला को हस्तरेखा कहते है। हस्तरेखा में उंगलियों, नाखूनों, उंगलियों के निशान, हथेली की त्वचा की बनावट व रंग, आकार, हथे

आज के समय में लोगों का रिलेशनशिप पर ज्यादा विश्वास नहीं रहा है, लेकिन ये आज की ही सिर्फ बात नहीं है, जब से सभ्यता पनपी है लोगों के अवैध संबंध भी बने है । ये अलग बात है कि आज आसानी से किसी के अवैध रिलेशनशिप की जानकारी हो जाती है।  यदि शुक्र मेष,सिंह, धनु, वृश्चिक में हो या नीच का हो

माह- माघ, पक्ष-कृष्ण, तिथि- दशमी, दिन-रविवार, नक्षत्र-विशाखा , सूर्योदय- 07.21, सूर्यास्त-17.38। आज रविवार के दिन सूर्य की उपासना करें सूर्य के तिल के साथ जल चढ़ाएं। जो भी रोग है वो क्षण भर में दूर हो जाएंगे। जानते हैं 12 राशियों का हाल...

माह- माघ, पक्ष-कृष्ण,  तिथि- नवमी, नक्षत्र-स्वाति, दिन शनिवार, सूर्योदय-07.20, सूर्यास्त-17.38। शनिवार के दिन किसी भी पीपल के पेड़ के नीचे तिल, तेल चढ़ाएं व दीपक जलाएं। जानिए शनिदेव की कैसी रहेगी कृपा, जानिए  राशिफल...

पुराने जमाने से एक परंपरा चली आ रही है कि यदि किसी के सिर पर कौआ बैठ जाए तो वह अपने रिश्तेदार को झूठा पत्र लिखता है कि उसकी मृत्यु हो गई है। इस प्रकार की खबर सुनकर परिजन शोक करते है।

मकर संक्रांति हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है लेकिन इस साल देशभर में 15 जनवरी को मनाया जायेगा। 15 जनवरी इसलिए क्योंकि देर रात 2.07 मिनट को सूर्य मकर राशि में आगमन करने वाला है। इसलिए शास्त्र नियम के अनुसार मध्यरात्रि में संक्रांति होने के वजह से पुण्य काल अगले दिन पर होता हैं।

तिथि- प्रतिपदा, वार-शनिवार,पक्ष-कृष्ण, माह-माघ, नक्षत्र- पुनर्वसु,सूर्योदय- 7.20, सूर्यास्त-17.37 । शनिवार के दिन आज से माघ मास की शुरुआत हो रही है जातक आज से माघ स्नान कर सकते है। और भगवान को तिल और गुड़ पूरे मास चढ़ाएं व दान करें। भगवान की कृपा बनी रहेगी। जानते है 12 राशियों का दिन आज कैसा गुजरेगा।