astrology

सूर्योदय -05:55,सूर्यास्त-18:54,पक्ष-कृष्ण,तिथि: सप्तमी–अष्टमी,नक्षत्र कृत्तिका,राहुकाल10:48 - 12:24 , अभिजीत मुहूर्त 11:59 - 12:50 । 23 व 24 अगस्त को दो दिन जन्माष्टमी मनाई जाएगी। किन राशियो पर बरसेगी भगवान की कृपा जानते है।

22 अगस्त 2019 गुरुवार को षष्ठी तिथि है। भरणी, नक्षत्र, वृद्धि योग, करण : वणिज, सूर्योदय-05:53 , सूर्यास्त-18:54। जानते है 12 राशियों के लिए दिन कैसा रहेगा।

जयपुर: पक्ष – कृष्ण, वार – बुधवार, नक्षत्र – अश्विनी – 24:47,सूर्योदय – 05:53,सूर्यास्त – 18:55। हलषष्ठी के दिन कैसा रहेगा। आज माताओं को करना चाहिए उत्तम व्रत का पालन। जानिए राशिफल।

ललही छठ, हलषष्ठी या हल छठ के नाम से जाने वाले इस व्रत के दिन महिलाएं संतान सलामती के लिए पूजा करती हैं। जन्माष्टमी से दो दिन पहले हलषष्ठी या हल छठ का पर्व मनाया जाता है इसे बलराम जयंती के नाम से भी जाना जाता है।

ताश के पत्तों से लोगों को खेलते हुए तो आपने जरूर देखा होगा। संभव है कि आपने भी इस खेल को खेला हो, लेकिन ताश के पत्ते, सिर्फ मनोरंजन ही नहीं करते या सफर में आपके समय काटने में मददगार ही नहीं होते हैं।

जयपुर: वार-सोमवार, माह-भाद्रपद,पक्ष-कृष्ण,तिथि- चतुर्थी, नक्षत्र-  उत्तराभाद्रपद 07:50 तक,करण-बव 02:23 सूर्य राशि-सिंह, चंद्र राशि-  मीन ,अभिजीत मुहूर्त -11:58 से 12:50 तक. राहुकाल-प्रातःकाल 07:30 बजे से 09 बजे तक

प्यार एक ऐसा जज्बात है जिसमें पड़कर लोग बड़े-बड़े से सकंट को पार करने को तैयार रहते है। प्यार में पड़कर मनपसंद साथी से शादी करने के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहते है। आज के समय में ज्यादातर लोग अपनी पसंद का जीवनसाथी चुनते है

जयपुर : माह – भाद्रपद, तिथि – तृतीया – 25:15,पक्ष – कृष्ण, वार – रविवार, नक्षत्र – पूर्वाभाद्रपद ,सूर्योदय – 05:51,सूर्यास्त – 18:58, राहुकाल – 17:19 से 18:58।

माह – भाद्रपद ,तिथि – प्रतिपदा – 20:23,पक्ष – कृष्ण,वार – शुक्रवार,नक्षत्र – धनिष्ठा , सूर्योदय – 05:50, सूर्यास्त – 19:00। शुक्रवार को मां लक्ष्मी का दिन है , इस दिन उन्हे प्रसन्न करने के लिए पूजा व्रत का विधान है।

माह – श्रावण,तिथि –पूर्णिमा ,पक्ष – शुक्ल, वार – गुरुवार ,सूर्योदय – 05:49: सूर्यास्त – 19:01 । राखी व आजादी का दिन एक साथ होने से किस जातक के जीवन मे कैसा गुजरेगा गुरुवार जानिए राशिफल।