atal bihari vajpayee

प्रदेश की भाजपा सरकार पार्टी के सबसे बड़े नेता स्व अटल विहारी वाजपेयी की प्रतिमा को मुख्यमंत्री कार्यालय (लोकभवन) में स्थापित करने जा रही है। प्रतिमा राजस्थान के जयपुर शहर से बनकर आई है। इसे आज लोकभवन परिसर में पहुंचाया जा चुका है।

केन्द्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जब आज पूर्व नौकरशाह जगमोहन से मिले तो कई सालों बाद राजनीतिक क्षेत्र के लोगों ने उनकी कार्यशैली की चर्चा की और इंदिरा गांधी के जमाने से लेकर अटल सरकार तक के कार्यकाल को याद करने लगे।

अपने बयानों की वजह से हमेशा चर्चा में रहने वाली बीजेपी की सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर चर्चा में हैं। इस बार भोपाल से बीजेपी सांसद ने विपक्ष पर बड़ा आरोप लगाया है। बीजेपी नेताओं की मौत पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शंका जाहिर किया है।

पिछले साल 16 अगस्त को पार्टी के शीर्षस्थ नेता एवं देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी के निधन के बाद अनन्त कुमार, मनोहर पर्रिकर, सुषमा स्वराज और आज अरुण जेटली का निधन हो गया।

पीएम मोदी के जेटली और स्वराज के साथ काफी अच्छे संबंध थे। जेटली और सुषमा स्वराज ने मोदी सरकार-1 में केंदीय मंत्री थे। कहा जाता है पीएम मोदी को बनाने वाले अरुण जेटली ही थे। आज जिस मुकाम पर पीएम मोदी हैं, उसमें कहीं न कहीं जेटली का भी हाथ है।

महापौर ने कहा कि लखनऊ शहर अटल जी की संसदीय क्षेत्र रहा है और उनका हमेशा से प्रयास रहा कि लखनऊ पर्यावरण व साफ सफाई के दृष्टि एक नम्बर पर रहे।

अटल जी की कोई वसीयत अभी सामने नहीं आई है लेकिन यदि कानून की बात करें तो वर्ष 2005  संशोधित हिन्दू उत्तराधिकार कानून के मुताबिक संपत्ति उनकी दत्तक पुत्री नमिता और दामाद रंजन भट्टाचार्य को मिल सकती है।

साल 2014 में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को देश के सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ से नवाजा गया। बता दें, अटल बिहारी वाजपेयी देश के पहले प्रधानमंत्री थे, जोकि तीन बार प्रधानमंत्री बन चुके हैं। उनकी सबसे पहली सरकार महज 13 दिनों तक ही चल पाई थी।