Auraiya Accident

औरैया जिले में अजीतमल कोतवाली क्षेत्र में बड़ा सड़क हादसा हो गया। मध्य प्रदेश के रीवा से मजदूरों को लेकर हरियाणा के जींद शहर जा रहा कण्टेनर हाइवे किनारे खड़े ट्रक से भिड़ गया।

रविवार को जब कोतवाली पुलिस सैफई अस्पताल में डीसीएम की चालक को हिरासत में लेने के लिए पहुंची तब इस मामले की जानकारी हो सकी।

16 मई 2020 को औरैया के निकट हाईवे पर ढाबे पर खड़ी आईसर में राजस्थान के उक्त ट्राला ने टक्कर मार दी थी। जिससे उसमें सवार 29 मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई थी।

आनन-फानन में बोकारो जाने वाले ट्रक के साथ ही झारखंड व वेस्ट बंगाल जाने वाले दो ट्रकों को संगम नगरी प्रयागराज में दिल्ली-हावड़ा नेशनल हाइवे पर रोका गया।

औरैया में हुए भीषण सड़क हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की मौत को लेकर यूपी में सियासी जंग शुरू हो गया है। विपक्षी दलों के हमले को लेकर आज सीएम योगी ने जवाब दिया है।

शनिवार की सुबह एक पुट्टी लदे ट्राला पर मजदूर सवार थे और जो सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत दुर्घटनाग्रस्त हो गए। जिसमें 26 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। इसी परिपेक्ष में पुलिस अधीक्षक सुश्री सुनीति द्वारा कड़ा कदम उठाते हुए एक उपनिरीक्षक सहित सात सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया है।

औरैया पोस्टमार्टम हाऊस पहुँचने के बाद जब एक पिता ने अपने बेटे की सफेद कपड़ो में लिपटी लाश को देखा तो वह पिता बेसुध सा होकर रह गया अपने दर्द को छुपाये एकांत में गुमशुम सा अपने बेटे की फोटो को आँखों में आँसुओ का समंदर भरकर निहारने लगा।

लॉकडाउन के बीच घर वापसी कर रहे मजदूरों औरैया में सड़क हादसे का शिकार हो गए, जिसमें अब तक 25 की मौत हो गयी। इसी कड़ी में पीएम मोदी ने ट्वीट कर औरैया हादसे पर शोक व्यक्त करते हुए मुआवजे का एलान किया।

सपा अध्यक्ष ने शनिवार को कहा कि आपदा के समय अपने भाग्य पर छोड़ दिए गए मजदूर अपने परिवार की महिलाओं और मासूम बच्चों के साथ जिन दर्दनाक हालत से गुजर रहे हैं वह सबूत है भाजपा सरकार के मानवता विरोधी रवैये का।

सूबे की आवाम योगी सरकार को माफ नहीं करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तत्काल इस्तीफा दें। उन्होंने सरकार से मृतकों को 20 लाख रुपये का मुआवजा और घायलों को 5 लाख रुपये देने की मांग की।