ayodhya

गौरतलब है कि पिछले दिनों उन्हें अयोध्या में सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द होने के बाद डॉक्टरों ने लखनऊ रेफर किया था। इसके बाद उन्हें शहीद पथ स्थित मेदांता हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती कराया गया।

कैबिनेट में प्रस्ताव रखने के बाद उपबंध में राज्य विधानसभा में पारित करने के लिए प्रस्तावित संकल्प के आलेख को भी अनुमोदित किया गया है। इस संकल्प को राज्य विधानसभा से पारित कराने के बाद प्रस्ताव नागर विमानन मंत्रालय को भेजा जाएगा।

गत वर्षों के अनुपात मे परिक्रमार्थियों की संख्या में है काफी कम रही तथा उत्साह भी नहीं दिखाई पड़ रहा था। उधर नदी से लेकर सड़क मार्ग के 14 कोस कोस तक सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

इससे पूर्व कल शाम को रामकथा संग्रहालय स्थित मेला नियंत्रण कक्ष में स्थानीय प्रशासन की एक बैठक हुई। जिसमें कोरोना को देखते हुए सावधानी बरतते हुए कहा गया कि अधिकतर लोग घरों में रहे।

अयोध्या में दिवाली के भव्य आयोजन के बाद सरकार अब बनारस के घाटों पर भी ऐसा ही प्रकाश उत्सव आयोजित करने की तैयारी में है। 29 नवंबर को देव दिवाली के दिन बनारस के घाटों पर अयोध्या की छाप दिखाई देगी।

तहसील सदर में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में अनुपस्थित अधिकारियों के वेतन रोकने के दिए निर्देश देने के साथ ही उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या पहुंचकर राम जन्मभूमि में रामलला की पूजा की। इस दौरान उनके साथ यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी मौजूद रहीं।

अयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट के लिए जमीन लिए जाने के मामले में समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। कम मुआवजा का विरोध कर रहे स्थानीय किसानों ने बृहस्पतिवार को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से सपा प्रदेश मुख्यालय में मुलाकात की।

भगवान राम की नगरी अयोध्या में इन दिनों विकास की गाथा लिखी जा रही है। वर्षों से राजनीति का केन्द्र बनी रही अयोध्या में कई विकास के काम पूरे हो चुके हैं और जो नहीं पूरे हुए हैं वह भी जल्द ही पूरे करा लिए जाएगें।

महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत एक बार फिर बिगड़ गई है उन्हें एंबुलेंस से अयोध्या से लखनऊ लाया जा रहा है। विहिप के मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि उन्हे सांस लेने में दिक्कत हो रही है। इसके अलावा सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हे लखनऊ लाया गया है।