Azam Khan

आजम खान अपने भड़काऊ बयानों के कारण इस बार भी चुनाव के दौरान विवादों में घिरे रहे। उन्होंने भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा पर भी टिप्पणी की। भड़काऊ भाषण के कारण उनको चुनाव आयोग से प्रचार पर प्रतिबंध भी झेलना पड़ा।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पूर्व कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खान की याचिका पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है। अपर शासकीय अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि विवेचनाधिकारी आजम खान  को गिरफ्तार नही करेंगे।

चुनाव आयोग ने एक बार उनके बयान का उदाहरण देते हुए बताया कि सपा नेता ने कथित तौर पर कहा कि ‘फासीवादी उन्हें मारने की कोशिश कर रहे हैं।’ एक अन्य मौके पर उन्होंने कथित तौर पर दावा किया कि प्रधानमंत्री ने मुस्लिमों को मारा। उन्होंने ऐसे अनेक बयान दिये।

तीसरे चरण के लिए हो रहे चुनाव में आपराधिक रिकार्ड वाले प्रत्याशियों में सबसे अधिक आपराधिक मुकदमें रामपुर से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मो आजम खां पर है। इस चरण के चुनाव में करोडपति प्रत्याशियों

जयाप्रदा को लेकर आजम खान की विवादित टिप्पाणी पर महिला आयोग ने इस मामले को संज्ञान लेकर चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की थी। इस पर चुनाव आयोग ने आजम खान पर 72 घंटे का चुनाव प्रचार बैन लगाया था।

आजम खां ने रामपुर में एक कार्यक्रम में कहा 'मेरे साथ ऐसे सुलूक हो रहा है जैसे कि मैं सबसे बड़ा अपराधी हूं। सबसे बड़ा आतंकवादी, देशद्रोही और गद्दार हूं।' उन्होंने रुंधे गले से कहा 'सुलताना डाकू और डाकू मानसिंह के साथ वह सुलूक नहीं हुआ होगा, जो मेरे साथ हो रहा है।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने सपा-बसपा गठबंधन की ओर से रामपुर लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आजम खान के लिए चुनाव प्रचार किया। रामपुर में मायावती ने कांग्रेस और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि मुझे ये एतराज नही कोई मुझे पिल्ला कहता हैं,या हरामजादा कहता हैं, इन मीनारों की हिफाजत करो, कश्मीर से कन्याकुमारी तक क्या औकात हैं,आप लोगो की सोचने की बात है।

अमित जानी ने रामपुर से महागठबंधन के प्रत्याशी आजम खान को ललकारते हुए कहा है कि वह रामपुर से बाहर तो निकले। उप्र की सड़कों पर प्रचार करने के लिए उतरे तो सही। उनको उनकी औकात पता चल जाएगी।

कैबिनेट मिनिस्टर सुरेश कुमार खन्ना ने मीडिया से बात करते हुए आजम खान पर एक बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाले नेता अनपढ़ हैं।