azamgarh

आजमगढ़ के मुबारकपुर थाना क्षेत्र के इब्राहिमपुर गांव में सोमवार को एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहां बदमाशों ने पति-पत्नी और चार माह की बच्ची की धारदार हथियार व लाठी डंडा से प्रहार कर हत्या कर दी।

संदीप अस्थाना आजमगढ़। जिले में हमेशा हिन्दू-मुस्लिम मिल-जुलकर एकता व अखंडता के गीत गाते रहे हैं। इसी का परिणाम रहा है कि यहां पर कभी दंगे नहीं हुए। सच बात तो यह है कि साझी विरासत ही आजमगढ़ की तासीर है। देश के सिखों ने जब उबाल खाया था तो भी इस जिले का सिख …

तालाब में डूबने से चचेरे भाइयों सहित तीन किशोरों की मौत हो गयी। हादसे की सूचना पाते ही मुकामी पुलिस मौके पर पहुंच गयी और मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

आजमगढ़ जिले के रानी की सराय थाना क्षेत्र के मोलनापुर सिरसाल गांव में एक मां जिसने 35 साल तक बेटे को सीने से लगाकर रखा उसकी हर बुराई पर पर्दा डालती रही, लेकिन बेटे की करतूतों ने मां को हत्यारी बनने के लिए मजबूर का दिया।

बाटला हाउस कांड में निर्दोष लोगों को आज तक न्याय नहीं मिला बल्कि मामले को और उलझाने की कोशिश की गई। उक्त बातें एसोसिएशन फॉर वेलफेयर मेडिकल एजुकेशन एंड लीगल असिस्टेंन्स के अध्यक्ष डॉ.जावेद अख्तर ने पूरा गुलामी स्थित अपने आवास पर पत्रकार वार्ता में कही।

आजमगढ़: भोजपुरी गायक के आवास पर महाराष्ट्र पुलिस ने छापेमारी की। यह छापेमारी जिले की पुलिस के मदद से की गई। दस वर्ष की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार के आरोप में दर्ज मुकदमें में यह कार्यवाही की गई है। फिलहाल अभी तक भोजपुरी गायक नहीं मिल सका है। पुलिस अभी भी जिले में डेरा …

संदीप अस्थाना आजमगढ़: यूं तो मरने के लिए जहर सभी पीते हैं, जिन्दगी तेरे लिए जहर पिया है मैंने। खलील-उर रहमान की ये लाइनें आजमगढ जिले में श्रमदान व आम लोगों के सहयोग से कई पुल बनवाकर लोगों के दिलों को जोडऩे वाले शकील तोवां व बीबी का जेवर गिरवी रखकर पुल बनवाने वाले फिनिहिनी …

नेता सदन दिनेश शर्मा ने पेश हुए अनुपूरक बजट में की गयी व्यवस्थाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार आजमगढ़ और सहारनपुर में नया विश्वविद्यालय खोल रही है। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप कई डिग्री कालेज खुलने हैं, सड़कें बननी है  और तमाम तरह की केन्द्र सरकार की योजनाओं में अंशदान करना है इसके लिए अनुपूरक बजट लाया गया है।

फागू चौहान का जन्म आजमगढ़ के शेखपुरा में एक जनवरी, 1948 को हुआ था। उनके पिता का नाम खरपत्तु चौहान है। उनकी पत्नी का नाम मुहारी देवी है। उनके तीन लड़के और चार लड़कियां हैं। पिछड़ी जाति से आनेवाले फागू चौहान वर्ष 1985 में पहली बार दलित किसान मजदूर पार्टी से घोसी विधानसभा से विधायक बने।

पूर्णिमा श्रीवास्तव गोरखपुर: अपनी विशेषताओं के चलते दुनिया भर में चमक बिखेरने वाले टेराकोटा शिल्प को योगी सरकार ने जब एक जिला-एक उत्पाद योजना में शामिल किया तो शिल्पकारों से लेकर कद्रदानों की उम्मीदें कुलांचे मार रही थीं। बीते वर्ष 24 जनवरी को योजना लांच हुई तो शिल्पकारों में धनवर्षा के साथ ही शिल्प के …