azan

अतः ऊंची आवाज वाले हज़रत बिलाल रज़ियल्लाहु अन्हु इस्लाम के पहले अज़ान देने वाले के रूप में प्रसिद्ध हुए| मुअज्जिन परम्परा शुरू हुई| अब भगवती जागरण के आयोजकों पर भी यही अदालती निर्णय लागू हो सकता है| लाभ परीक्षार्थियों को होगा, शोर के कारण बेचारे पढ़ नहीं पाते|

स्क्रिप्ट और लिरिक्स राइटर जावेद अख्तर अपनी बेबाकी के लिए जाने जाते हैं। शनिवार को वो अपने एक ट्वीट के चलते विवादों के घेरे में आ गए हैं।

मुंबई: देश में आए दिन कुछ ना कुछ ऐसा होता है जो एकता और साम्प्रदायिक सौहाद्र् की मिसाल पेश करता है। ये देश ही ऐसा है जहां हर धर्म के  लोग आपस में मिलकर रहने की कोशिश करते है। खासकर हिंदू और मुसलमान दोनों ही आपस में भाई-भाई की तरह रहते हैं, इसलिए दोनों धर्मों …