Bakrid

कोरोना वायरस महामारी ने एक और त्यौहार बर्बाद कर दिया है। इस बार ईद-उल-अज़हा यानी बकरीद के मौके पर कोरोना वायरस का काफी असर दिखाई दिया।

आज बकरीद का दिन है। देशभर में  ईद-उल-अजहा की नमाज अदा की जा रही है। इस मौके के पर दिल्ली के जामा मस्जिद समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में ईद-उल-अजहा की नमाज अदा की गई। दिल्ली के जामा मस्जिद में सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर नमाज पढ़ी गई।

ईद-उल-अजहा अर्थात बकरीद का त्योहार मुस्लिम सम्प्रदाय के लिए बहुत विशेष होता हैं। इस दिन को कुर्बानी के लिए जाना जाता हैं। यह दिन यह संदेश देता है कि समाज की भलाई के लिए आपकी कितनी भी अजीज़ वस्तु ही क्यों न हो, उसे कुर्बान कर देना चाहिए।

एसपी शामली विनीत जायसवाल ने कैराना कोतवाली क्षेत्र के पब्लिक इंटर कॉलेज में भारी पुलिस फोर्स के साथ मॉक ड्रिल की। जिसमें फोर्स को प्रशिक्षण दिया गया.

गाजियाबाद जिले के लोनी से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने बकरीद पर विवादित बयान देते हुए कहा कि बकरीद में बकरों की जगह बच्चों की कुर्बानी दो।

मौलाना कल्बे जवाद नकवी ने कहा मुसलमानों को सरकारी दिशा निर्देशों और डॉक्टरों की सलाह का पालन करना चाहिए और सभी संभावित सावधानियां बरतनी चाहिए।

कर्नाटक राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए ईदगाह और अन्य स्थानों पर सामूहिक नमाज को प्रतिबंधित किया गया है।

योगी सरकार ने एक बार फिर त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से मनाने के लिए तैयारियां शुरू कर दी है। कोरोना संकट के बीच आगामी एक अगस्त को होने वाले मुस्लिम समाज के बकरीद के पहले योगी सरकार ने गाइड लाइन जारी कर सभी पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था चक चौबंद रखने को कहा है।