Bharatiya Janata Party

चुनावी सर्वे और एग्जिट पोल यह तो साफ तौर पर बताते हैं कि आम आदमी पार्टी की स्पष्ट बहुमत की सरकार बनेगी। रिपोर्ट के मुताबिक आप को 40 से 52 सीटें तक मिल सकती हैं। कांग्रेस का आंकड़ा 0-3 के बीच कुछ भी हो सकता है।

सपा अध्यक्ष ने रविवार को कहा कि भाजपा सरकारों के कामकाज से जनता की कठिनाइयां बढ़ी हैं। जिससे लोगों में कुंठा तथा निराशा पनप रही है। केन्द्रीय बजट में भाजपा ने अपनी बहकाने वाली राजनीति का नग्न प्रदर्शन किया है। एक हाथ से कथित रियायतें दी है तो तमाम दूसरी सुविधाएं छीन ली हैं। घरेलू उपयोग की चीजों को मंहगा कर दिया है।

सपा मुखिया ने सवाल उठाया कि नए-नए प्रयोग से अपराध कैसे कम होंगे? सिर्फ अधिकारियों की अदला बदली में व्यवस्था में बदलाव आने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि जनता पर लगातार अत्याचार हो रहा है। बलात्कार, हत्या, लूट और अपहरण की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश ने जारी एक बयान में कहा कि सपा सरकार में लोकभवन का निर्माण और लोकार्पण हुआ। लोकभवन से लोक प्रशासन चलता है, सुशासन का संदेश जाता है। लेकिन, भाजपा सरकार में लोकभवन से अन्यायपूर्ण निर्णय लिए जा रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी की एक संगठनात्मक बैठक आज प्रदेश मुख्यालय में आयोजित की गई। जिसमें प्रदेश के सभी मोर्चाें के अध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी, क्षेत्रीय अध्यक्ष की बैठक को प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह एवं प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने सम्बोधित किया।

किसी भी मरीज को ईसीएमओ पर तभी रखा जाता है जब उसके दिल और फेफड़े सही तरीके से काम नहीं करते हैं और वेंटीलेटर से कोई फायदा नहीं होता है। ईसीएमओ की मदद से मरीज को ऑक्सीजन दी जाती है।

4 से 6 मंत्रियों को हटाने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार में 8-12 नए चेहरों को एंट्री दी जाएगी। बता दें, जब मंत्रियों ने 19 मार्च 2017 को शपथ ली थी, तब कैबिनेट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा 24 कैबिनेट मंत्री, 9 स्वतंत्र प्रभार और 13 राज्यमंत्री थे।

जेटली का जन्म महाराज किशन जेटली और रतन प्रभा जेटली के घर में हुआ था। उनके पिता एक वकील हैं। उन्होंने अपनी विद्यालयी शिक्षा सेंट जेवियर्स स्कूल, नई दिल्ली से 1957-69 में पूर्ण की।  अरुण जेटली ने अपनी 1973 में श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, नई दिल्ली से कॉमर्स में स्नातक की।

साल 2014 में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को देश के सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ से नवाजा गया। बता दें, अटल बिहारी वाजपेयी देश के पहले प्रधानमंत्री थे, जोकि तीन बार प्रधानमंत्री बन चुके हैं। उनकी सबसे पहली सरकार महज 13 दिनों तक ही चल पाई थी।