BHU

सर सुंदरलाल चिकित्सालय के आयुर्वेद अनुभाग में प्रसूति तंत्र विभाग द्वारा गर्भवती महिलाओं को गर्भ संस्कार की थेरपी दे रहे है। इसके तहत बीएचयू के डॉक्टर गर्भवती महिलाओं को महापुरुषों की किताबें पड़ने के लिए दी जाती है।

कोरोना वैक्सीन को लेकर पूरी दुनिया में रिसर्च चल रही है। रूस ने तो बकायदा इसके वैक्सीन का ऐलान भी कर दिया। कोरोना को लेकर भारत से भी तरह-तरह की खबरें सामने आ रही हैं।

मंगलवार की देर रात बीएचयू के ट्रामा सेंटर के इमरजेंसी द्वार पर एक कुत्ता गेट के बीच फंस गया। काफी देर तक कुत्ते ने निकलने की कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिली।

उत्तर प्रदेश में कोरोना तेजी से अपने पैर पसार रहा है। ऐसे में अब वाराणसी पुलिस लाइन में कोरोना की एंटीजन जांच में 3-4 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव निकले। संक्रमित निकले इन पुलिस कर्मियों की ड्यूटी पुलिस लाइन हैलीपैड पर लगाई गई थी।

कोरोना काल में दो कोरोना मरीजों की मौत के बाद बीएचयू प्रशासन सकते में है। पीएमओ और सीएमओ की फटकार के बाद बीएचयू के कुलपति राकेश भटनागर ने अब अस्पताल की कमान संभाल ली है।

बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल को पूर्वांचल का एम्स कहा जाता है। बनारस और उसके आसपास के 9 जिलों के अलावा बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों के लगभग 5 करोड़ लोग इलाज के लिए बीएचयू पर निर्भर रहते हैं।

कोरोना काल में बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल और सुपर स्पेशियलिटी कॉम्पलेक्स के ऊपर एक बड़ी जिम्मेदारी है। लेकिन आये दिन इन अस्पतालों से लापरवाही की तस्वीरें सामने आ रही हैं।

कोरोना काल में बीएचयू की लापरवाही एक बार फिर से सामने आई है बीएचयू स्थित कोविड लेवल-थ्री हॉस्पिटल की चौथी मंजिल से रविवार की देर रात एक युवक ने छलांग लगा ली इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

BHU परिसर से लेकर बनारस की सड़कों पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। बिरला छात्रावास के छात्रों ने कुलपति आवास पर पहुंचकर धरना दिया और कुलपति को चूड़ियां भेजी।

एक छात्र से फोन पर बातचीत के दौरान बीएचयू के कुलपति राकेश भटनागर ने कहा, 'महामना जी आम के पेड़ तो लगा गए अगर मेरे लिए कुछ रुपये के पेड़ लगा जाते तो हम सब कुछ फ्री कर देते।'