Bihar

कोरोना संकट के बीच लगातार आ रहे भूकंप से तो देश वैसे ही सहमा हुआ था लेकिन आज आसमान से काल बनके कड़की बिजली ने बिहार में तबाही मचा दी।

बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले लालू यादव के बेटे और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने एक बड़ा दांव चला है। तेजस्वी यादव ने 15 साल के लालू-राबड़ी सरकार में हुई गलतियों के लिए बिहारवासियों से माफी मांगी है।

मानसून आया तो एक तरह लोगों के चेहरों पर मुस्कान आई तो दूसरी तरफ कई लोगों की जिंदगियां ही तबाह हो गई। बिहार में आकाशीय आपदा यानी आकाशीय बिजली गिरने से 14 लोगों की मौत हो गई है।

मानसून ने अब अपनी रफ्तार पकड़ ली है। कई राज्यों में इतनी ज्यादा बारिश हो गई, जिससे लोगों को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। इसके साथ ही भारी बारिश के अलावा आसमानी बिजली ने इस बार शुरूआती दौर से ही अपना प्रचंड रूप दिखाया है।

बिहार में मानसून पहले ही प्रवेश कर चुका है। वहीं नेपाल से सटे कई जिलों में बाढ़ का खतरा बना हुआ है, जिससे लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं।

मानसून देश के सक्रिय हो गया है। कई राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है, तो कहीं बौछारें पड़ रही हैं। इस बार मानसूनी बारिश ने बिहार में तबाही मचाकर रख दी है। एक बार फिर प्रदेश में आसमान से आफत की बारिश हुई है।

ड़ी खबर बिहार के कटिहार से है, जहां पर सूबे के एक कैबिनेट मंत्री और उनकी पत्नी कोरोना संक्रमित पाई गई हैं। कैबिनेट मंत्री और उनकी पत्नी में कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद दोनों की कोविड- 19 जांच कराई गई थी।

बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को एक और बड़ा झटका लगा है। आरजेडी के उपाध्यक्ष विजेंद्र यादव ने पार्टी और अपने पद दोनों से इस्तीफा दे दिया है।

बिहार में मानसून पहले ही प्रवेश कर चुका है। राज्य के कई जिलों में लगातार बारिश हो रही है। इसी के साथ मौसम विभाग ने बिहार के आठ जिलों में भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी कर दिया है।

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले एक और राजनीतिक मोर्चे का जन्म हुआ है। इस राजनीतिक मोर्चे का गठन पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने किया है।