bihar election 2020

पूर्वी उत्‍तर प्रदेश और बिहार की सीमा पर स्थित भोजपुर के बरहरा में भाजपा नेता व केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ठेठ भोजपुरी अंदाज में लोगों से बात की।

सुशील मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष की डपोरशंखी घोषणाओं के तहत अगर वास्तव में दस लाख लोगों को सरकारी नौकरी दी जाएगी तो राज्य के खजाने पर 58,415.06 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

बुधवार को चुनावी दौरे के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरे रंग में दिखे। उन्होंने कांग्रेस नेता शशि थरूर के बयान का उल्लेख करते हुए कांग्रेस को घेरा।

नीतीश कुमार जनसभा को सम्बोधित करते हुए लालू की बहु एश्वर्या राय का जिक्र कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पढ़ी-लिखी लड़की के साथ गंदा व्यवहार हुआ है।

बिहार में चुनाव को लेकर माहौल गर्म है। जैसे जैसे मतदान करने का दिन नज़दीक आ रहा है वैसे-वैसे सियासी समीकरण बदलते दिख रहे हैं। इस चुनावी घमासान के बीच सीएम नीतीश कुमार ने पूर्व विधान पार्षद और भाजपा नेता अनुज कुमार सिंह को JDU की सदस्यता दिलाई।

आज तेजस्वी यादव औरंगाबाद में रैली कर रहे थी। जिस दौरान उनपर किसी शख्स ने चप्पल फेंका जो उनके हाथों पर लगी। उनपर दो बार चप्पलों से हमला किया गया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैमूर के रामगढ़ में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले सात महीने से देश में कोरोना से जंग चल रही है। इस दौरान केन्द्र की मोदी सरकार और नीतीश सरकार ने जनता के लिए हर संभव मदद करने का काम किया।

लोजपा प्रत्याशी इंजीनियर रविंद्र सिंह का चुनावी मंच अचानक भरभरा कर टूट गया, जिसके चलते अफरा-तफरी मच गई। इस दौरान मंच टूटने के कारण कई लोगों को चोटें आईं। वहीं, लोजपा प्रत्याशी इंजीनियर रविंद्र सिंह बाल-बाल बच गए।

महागठबंधन के नेताओं के लिए सत्ता विरोधी मतों का बंटवारा सबसे बड़ी चिंता का विषय बन गया है। यही कारण है कि छोटे दलों से चुनाव के मैदान में होने वाले सियासी नुकसान से बचने के लिए राजद और कांग्रेस की ओर से आक्रामक रणनीति बनाई जा रही है।

बिहार विधानसभा चुनाव का माहौल गरम है। सभी अपनी पार्टी का प्रचार करने में जुटे हुए हैं। इस दौरान कई नेताओं को आम जनता के गुस्से का शिकार होना पड़ रहा है। ऐसा ही कुछ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चुनाव सभा में भी हुआ।