bjp leader

देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। अचानक से बढ़ी संख्या का जिम्मेदार तबलीगी समाज को मानते हुए भाजपा नेता ने कहा कि...

कोरोना वायरस को भारत की जेलों तक पहुँचने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश समेत कई राज्य सरकारों ने प्रदेशों की जेलों से कैदियों की पैरोल पर रिहाई की है। ऐसे में अब नाबालिग संग दुष्कर्म मामले में दोषी आसाराम बाबू की रिहाई की भी मांग उठी है।

दुनिया में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते जहां लोगों मे दहशत का माहौल है और जिसकी वजह से संक्रमण को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन कर दिया गया है। प्रधानमंत्री ने देश से इसमें सहयोग करने की अपील भी की थी।

विश्व मे कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते लोगों में दहशत का माहौल है। आए दिन कोरोना वायरस से कोई ना कोई व्यक्ति संक्रमित पाया जा रहा है। इसको देखते हुए लोगो को कोरोना वायरस से बचाने और प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्र के नाम संबोधन पर भाजपा नेता विवेक प्रेमी ने अपने विवाह में भीड़ न जुटाने का निर्णय लिया है। शादी आगामी 27 मार्च को होनी है। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर से उन्हें याद किया है।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज यानि गुरूवार को मध्य प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे। इस दौरे के दौरान राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल करेंगे।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हो रहे विरोध के बीच भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता ने एक अजीबो गरीब बयान दिया है। दरअसल, भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने एक मजदूर के खाना खाने के तरीके ये उसकी नागरिकता की पहचान करने का दावा करते हुए कहा कि वह बांग्लादेशी है

महात्मा गांधी आजादी के पहला दिन 15 अगस्त, 1947 का दिन पाकिस्तान में बिताना चाहते थे। पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता एमजे अकबर की नई किताब में यह दावा है।  भारत और पाकिस्तान के बंटवारे पर एमजे अकबर ने अपनी नई किताब 'गांधी हिंदुइज्म: द स्ट्रगल अगेन्स्ट जिन्नाह इस्लाम' में यह बातें कही हैं।

प.बंगाल के भाजपा नेता ने नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों के प्रति इस आशय का कमेंट करते हुए सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचानें में लिप्त लोगों को उसी तरह हत्या और गोली से उड़ाने की धमकी दी है जैसा कि उत्तर प्रदेश और असम में हुआ है।

नागरिकता कानून के समर्थन में निकाले गए पैदल मार्च में उमड़े समर्थकों ने जोरदार प्रदर्शन किया। पैदल मार्च में तमाम संगठनों के लोग शामिल रहे।