blood test

वैज्ञानिक इसके लिए खून में मौजूद सूक्ष्म अणु माइक्रो आरएनए का विश्लेषण करेंगे। क्योंकि पूरी नींद नहीं सो पाने की वजह से शरीर में माइक्रो आरएनए अणुओं की संख्या में बदलाव होता है।