Border dispute

भारत और चीन के बीच लद्दाख में सीमा विवाद का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। चीन एक तरफ सैन्य वार्ता का दिखावा कर रहा है और दूसरी तरफ भारत को हमला बोलने की तैयारियों में जुटा है।

सीमा विवाद को लेकर भारत से बातचीत करने के बाद चीन अपनी बातों से पलट गया है। उसने फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी है।

सीमा विवाद को लेकर भारत से बातचीत करने के बाद चीन अपनी बातों से पलट गया है। उसने फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी है।

सीमा विवाद को लेकर भारत से बातचीत करने के बाद चीन अपनी बातों से पलट गया है। उसने फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी है। उसकी हरकतें सामान्य नहीं लग रही हैं।

भारत और चीन के बीच मंगलवार को चौथी बैठक हुई। ये बैठक कोर कमांडर स्तर की थी। जो 14 घंटे तक चली। जिसमें तनाव वाले इलाकों में चीनी सेना के पीछे हटने पर चर्चा हुई।

रूस के एक शहर पर अपना दावा ढोकने के बाद अब चीन का कहना है कि भूटान के साथ भी पूर्वी क्षेत्र में उसका सीमा विवाद है।

सीमा पर जारी विवाद के बीच भारत ने हिंसक झड़प वाली जगह यानी गलवान घाटी में 6 टी-90 टैंक्स तैनात कर दिए हैं।

लद्दाख में चीन के साथ जारी विवाद पर एक बार फिर से सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है।

पिछले पांच हफ्तों से भारत और चीन के सैनिकों की ठनाठनी चल रही है। अब तक पैंगोंग झील, गलवां घाटी, डेमचोक और दौलत बेग ओल्डी सेक्टर में चीन और भारत की सेना आपस में उलझ चुकी है।

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को सुलझाने के लिए बातचीत का दौर जारी है। दोनों देशों के बीच लद्दाख में जारी गतिरोध का मामला सुलझने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।