bsnl

देश की सबसे बड़ी सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल काफी घाटे में चल रही है। जिसके चलते बीएसएनएल ने अपने कर्मचारियों की सैलेरी तक नहीं दी।

‘ भारत संचार निगम लिमिटेड जो कभी देश को जोडऩे की बात करती थी आज वो खुद ही बैसाखी का सहारा खोजती फिर रही है। किसी जमाने में टेलीफोन का मतलब बीएसएनएल होता था। कनेक्शन लेने के लिए लंबी कतार व ऊंची सिफारिश की जरूरत पड़ती थी। फिर मोबाइल का जमाना आया तो देश में …

भारतीय टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल ने अपने शुरुआती प्रीपेड प्लान्स में कुछ बदलाव कर दिए हैं। टेलीकॉम कंपनियां आए दिन अपने प्लान को मंहगा कर रही हैं। अब इस बीच बीएसएनल के ग्राहकों को भी अब झटका लगने वाला है।

पिछले कई साल से घाटा झेल रही सरकारी स्वामित्व वाली टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल की वित्तीय सेहत में सुधार दिख रहा है। इसका पता इस बात से चलता है कि कंपनी ने हाल में अपने वेंडर्स और कॉन्ट्रैक्टर्स को 1,700 करोड़ रुपये का भुगतान किया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वोडाफोन ने रेड सीरीज के इस प्लान को पहले बंद कर दिया था, लेकिन अब कंपनी ने इसको दोबारा ग्राहकों के लिए पेश किया है। वहीं जियो ने 200 रुपये से कम की कीमत में आने वाला प्लान उन यूजर्स को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है जो सस्ते दाम में बेहतर सर्विस चाहते हैं।

जानकारी के मुताबिक, सरकार की कोशिश है MTNL और BSNL की संपत्ति को मौजूदा वित्तीय वर्ष में ज्यादा से ज्यादा बेच दी जाए। इसके लिए अगले हफ्ते इस पर आंतरिक मंत्रालय की अहम बैठक भी बुलाई गई है।

BSNL अपने यूजर्स के लिए अच्छी खबर ले कर आए हैं. टेलिकॉम कंपनियों द्वारा टैरिफ बढ़ाए जाने के बाद अब प्रीपेड प्लान्स 40% तक महंगे हो गए हैं।

सरकारी टेलीकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) ने अपने यूजर्स के लिए एक बार फिर से 1,999 रुपये वाले प्लान की पेशकश की है।

भारती एयरटेल के खिलाफ BSNL ने दूरसंचार विभाग (DoT) के पास शिकायत दर्ज कराई है। सरकारी टेलिकॉम कंपनी के अनुसार, सुनील मित्तल की फर्म ने उसे धमकी दी है

सारी बड़ी कंपनियां दिसंबर की शुरुआत से अपने मोबाइल प्लांस महंगे करने जा रही हैं। लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हुआ है कि कीमतों में कितनी बढ़ोतरी की जाएगी। अब एक रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें बताया गया है कि प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियों के प्लांस कितने महंगे हो सकते हैं।