budget

रसोई गैस सिलिंडर की कीमत में 1 नवंबर से बढ़ोत्तरी हो गई है।  जीं हां लगातार तीसरे महीने रसोई गैस के दाम में इजाफा हुआ है। जिससे आम जनता को झटका लगा है। देश के प्रमुख महानगरों में बिना-सब्सिडी वाला गैस सिलिंडर करीब 76.5 रुपये महंगा हुआ है।

उत्तर प्रदेश के विधानमंडल के मॉनसून सत्र में मंगलवार को योगी सरकार ने अनुपूरक बजट पेश किया। यह अनुपूरक बजट लगभग 13,594 करोड़ रुपये का है। इससे पहले आज कैबिनेट की बैठक में अनुपूरक बजट के मसौदे को मंजूरी प्रदान की गई।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को आम बजट पेश किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में सोने और अन्य बहुमूल्य धातुओं पर सीमा शुल्क 10 से बढ़ाकर 12.5 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया। इससे घरेलू बाजार में सोना और आभूषण महंगे होंगे।

5 जुलाई को आने वाले बजट से पहले आर्थिक मोर्चे पर देश भर में सुगबुगाहट तेज हो गई है। शेयर मार्केट के खिलाड़ियों में लगातार इस बात को लेकर चर्चा बनी हुई है कि बजट में उनके लिए कुछ खास होगा।

शनिवार से बजट की छपाई शुरू हो गई। नॉर्थ ब्लॉक स्थित वित्त मंत्रालय के बेसमेंट में हलवा सेरेमनी के साथ ही 100 अधिकारी और कर्मचारी अगले 15 दिनों के लिए कैद हो गए। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बजट से पहले अर्थशास्त्रियों से मुलाकात करेंगे। ये मुलाकात 22 जून शनिवार को होगी। बजट से पहले पीएम मोदी की ये मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है।

विधानसभा के चालू बजट सत्र का यह सप्ताह विपक्ष के हंगामे के कारण बेहद बाधित रहा। विपक्ष के जबदस्त विरोध और शोरशराबे के कारण कई बार सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी।

कोलकाता। लोकसभा चुनावों के लिए सभी दलों ने कमर कस ली है और जनता को अपनी ओर खींचने के लिए जबर्दस्त होड़ मच गई है। मामला लोकलुभावन घोषणाओं की कड़ी प्रतिस्पर्धा का है। केंद्र सरकार के अंतरिम बजट में किसानों को वित्तीय मदद देने की घोषणा की तो अब पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार …

आज पेश हुए योगी सरकार के बजट पर निशान साधते हुए समाजवादी पर्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा।पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि जिसकी जैसी समझ वैसा उसका बजट। उन्होंन कहा कि बजट में कुछ भी नया नहीं है, जो था वह भी खो दिया। बजट में किसानों और व्यापारियों के लिये कुछ नहीं है, बेरोजगारी के खात्मे के लिये कुछ नहीं है।

बसपा सुप्रीमों मायावती ने आज पेश हुए योगी सरकार के बजट पर निशान साधते हुए कहा केवल संगम स्नान से सरकारों के पाप नहीं धुल सकते।उन्होंने कहा, चुनावी वर्ष में बीजेपी सरकारों का बजट चाहे कितना भी लुभावना क्यों ना हो, वास्तव में सरकार का साल भर का जनहित व जनकल्याण एवं अपराध नियंत्रण व कानून -व्यवस्था का काम ही आमजनता के लिये महत्त्वपूर्ण होता है।