bulandshahr violence

एसएसपी प्रभाकर चौधरी के मुताबिक, पूछताछ में सामने आया है कि इंस्पेक्टर पर सबसे पहले आरोपी कलुआ ने कुल्हाड़ी से वार किया था। सुमित ने पत्थर फेंके थे, जिसमें इंस्पेक्टर खेत में गिर गए थे।

बुलंदशहर हिंसा की गुत्थी अभी तक सुलझ नहीं पाई है। इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के कातिलों तक सुरक्षा और जांच एजेंसियां अभी तक नहीं पहुंच पाई हैं। वहीं, अब तो इस बात को एसआईटी भी मानने लगी है कि उनके पास अभी भी कातिलों के संबंध में कोई पुख्ता सुबूत नहीं हैं।

आईबी की रिपोर्ट बुलंदशहर हिंसा पर आ चुकी है। इस रिपोर्ट के बाद पुलिस में तबादलों का सिलसिला शुरू हो गया है। बता दें, ताबदालों की सूची में कृष्ण बहादुर सिंह, स्याना इलाके के सीओ सत्य प्रकाश और चौकी इंचार्ज सुरेश कुमार का नाम सबसे ऊपर है।

बुलंदशहर हिंसा में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में सामने आया है कि शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को जम्मू में तैनात सेना के एक जवान ने गोली मारी थी। बताया जा रहा कि ये जवान छुट्टी पर आया था। सुबोध को उसने अपनी अवैध पिस्टल से गोली मारी और इसके बाद जम्मू भाग गया।

बुलंदशहर में भड़की हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिवार ने सीएम योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास 5 कालीदास पर भेंट की। मुलाकात के समय विधायक अतुल गर्ग और डीजीपी ओपी सिंह भी मौजूद रहे।

मेरठ: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के स्याना गांव में सोमवार को गोहत्‍या की अफवाह के बाद फैली हिंसा के मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने आज बताया कि बुलंदशहर हिंसा के मामले में तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। घटना …

बुलंदशहर के स्याना गांव में गोहत्‍या की अफवाह के बाद फैली हिंसा के बाद अबतक पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में कुल 27 नामजद और 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज को एफआईआर में मुख्य आरोपी बनाया गया है।