bundelkhand news

दो दिन पूर्व बिजली के पोल से गिरकर हुई प्राइवेट लाइनमैन की मौत के मामले ने आज सुबह तूल पकड़ लिया। भारी संख्या में एकत्र हुए ग्रामीणों ने ट्रैक्टर ट्राली में लाइनमैन का शव रख मौदहा बिवांर मार्ग जाम कर दिया और जमकर नारेबाजी करने लगे।

मनरेगा के कार्यों में प्रवासी श्रमिकों को प्राथमिकता से लगाया जाए तथा किए जा रहे कार्यों में श्रमिकों की संख्या को बढ़ाया जाए ताकि कार्य मानसून आने से पूर्व पूर्ण हो जाएं और उसका लाभ प्राप्त हो सके। ये निर्देश झांसी मंडलायुक्त ने दिए।

जिलाधिकारी डॉ. ज्ञानेश्वर त्रिपाठी के निर्देश पर जनपद में बालू, मोरम के अवैध खनन तथा ओवरलोड वाहनों पर प्रभावी प्रतिबंध लगाए जाने के उद्देश्य से गत दिवस की देर रात्रि संपूर्ण जनपद में अभियान चलाकर अवैध खनन, ओवरलोड वाहनों एवं बिना एमएम 11 वाले वाहनों की सघन जांच की गयी।

ग्राम पंचायतों में मनरेगा के अंतर्गत कम से कम एक कार्य अवश्य चालू रखे जाएं ताकि गैर प्रांतों से आने वाले प्रवासियों को रोजगार संबंधी समस्या न हो। प्रवासियों को खाद्यान्न की किट शीघ्र उपलब्ध करायी जाए।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पंचायत चुनाव समिति के केन्द्रीय सदस्य डॉ सुनील तिवारी ने कान्फ्रेंस में झाँसी सहित पूरे बुन्देलखण्ड अंचल में पेयजल आपूर्ति का संकट बढने पर चिंता व्यक्त की है।

श्रमिकों को अपने गंतव्य तक पहुंचाने हेतु नियमित रूप से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज झांसी से गोरखपुर, छपरा तथा दीन दयाल उपाध्याय जं. एक – एक तथा तथा ललितपुर से गोरखपुर से एक ट्रेन का संचालन किया जा रहा है।

बुन्देलखण्ड पिछले कुछ वर्षो में एक ऐसा क्षेत्र हो गया है, जहां पर किसानों पर आपदाऐं कम होने का नाम नहीं ले रही है। वर्ष 2019 में इस इलाके में अत्यधिक बारिस हुयी जिसके कारण खरीफ की फसले बडे पैमाने पर नष्ट हो गयी।

कोरोना वायरस के चलते जहां पूरे जिले के लोग अपने घरों में सुरक्षित महसूस कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ अवैध खनन करने वाले माफिया इस लॉकडाउन...

बुन्देलखण्ड में रोजगार की दृष्टि से महत्वपूर्ण दशको से बन्द पड़ी बरगढ़ ग्लास फैक्ट्री को लेकर एक बार जनमानस की आस बढ़ गई है। मानिकपुर विधायक आनंद शुक्ला लगातार क्षेत्र की समस्यायों को लेकर सक्रिय नजर आ रहे हैं। हर दिन किसी न किसी नए या पुराने महत्वपूर्ण मुद्दे को जीवंत करने का काम कर रहे हैं आंनद शुक्ला।

वहीं, कब इस सम्बंध में गौ सेवा आयोग के सदस्य भोले सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि सरकार अन्ना जानवरो से निपटने हेतु लगातार प्रयास कर रही है। हम गौ आश्रय केंद्रों द्वारा ऐसे सभी गौ वंश का रखरखाव रख रहे हैं जो बाहर रहकर किसानों के लिए मुसीबत बनते हैं।