cbi court

छह दिसम्बर 1992 को अयोध्या में बाबरी ढांचे विध्वस के बाद इस मुकदमें में  कई बड़े नेताओं मुरली मनोहर जोशी, लाल कृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, विनय कटियार और उमा भारती समेत सभी 32 आरोपितों को बरी कर दिया गया है।

विशेष अदालत ने फैसला सुनाते हुए पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, एमपी की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, बीजेपी के सीनियर नेता विनय कटियार समेत कुल 32 आरोपियों को बरी कर दिया है।

बस थोड़ी ही देर में बाबरी विध्वंस का फैसला आने वाला है जिस पर सारे देश की निगाहें टिकी हुई हैं। राजनीतिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण आज के दिन 28 वर्षो बाद जहां एक तरफ विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत अपना फैसला सुनाएगी।

इस मामले में सीबीआई ने 49 आरोपितों के खिलाफ विशेष अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया था। इनमें से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। 32 आरोपियों की मौजूदगी में अब 30 सितंबर को फैसला सुनाया जाएगा।

विवादित ढांचा गिराए जाने के मामले में चल रही सुनवाई को लेकर सीबीआई कोर्ट में बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती अपना बयान दर्ज कराने के लिए पहुंची।

विवादित ढांचा गिराए जाने के मामले में सीबीआई कोर्ट में सुनवाई चल रही है। पेशी के लिए जाती हुई साध्वी ऋतम्भरा।

अयोध्‍या में हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आज यानि चार जून को CBI की विशेष अदालत में आज 32 आरोपियों के बयान दर्ज किए जाएंगे। इन 32 आरोपियों में भाजपा नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्‍याण सिंह और उमा भारती के नाम भी शामिल हैं।

गिरफ्तार करने के बाद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को सीबीआई ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया। बुधवार रात को लंबे ड्रामे के बाद सीबीआई ने पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस नेता को उनके घर से गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही सीबीआई ने हेडक्वार्टर में उनसे लगभग 3 घंटे तक पूछताछ की।

वर्तमान में सुरेंद्र प्रसाद सिंह युवा कल्याण निदेशालय में डिप्टी डायरेक्टर व प्रमोद कुमार शुक्ला कानपुर मंडल के उपायुक्त है। जबकि जयकरन सिंह सेवानिवृत हो चुके है। यह तीनों अभियुक्त घोटाले के दौरान लखीमपुर खीरी में एसडीएम हुआ करते थे।

राम रहीम व उसके तीन अन्य सहयोगियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सजा सुनाने को लेकर हरियाणा सरकार की ओर से दायर याचिका पर विशेष सीबीआई कोर्ट ने फैसला आज सुनायेगा। राम रहीम को अब 17 जनवरी को सजा सुनाई जानी है।