ceasefire

पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर के जबड़ा बटाड और कमलाकोट एरिया में सीजफायर उल्लंघन किया। सीमा पार से जमकर गोलाबारी हुई, जिसका सेना ने माकूल जवाब दिया।

पाकिस्तानी सैनिक लगातार बिना उकसावे के संघर्ष विराम उल्लंघन कर रहे हैं। इसी कड़ी में पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर मे पाकिस्तान ने सीमा पर गोलाबारी की।

पाकिस्तान ने बीते रविवार को नियंत्रण रेखा पर बालाकोट, कीरनी और माल्टी सेक्टरों में बने सेना की चौकियों हमला किया था। इतना ही नहीं, पाकिस्तान ने सेना के चौकियों के अलावा रिहायशी इलाकों को भी अपना निशाना बनाकर बड़े हथियारों के जरिए गोलाबारी की थी।

सीज फायर का उल्लंघन करने के पीछे पाकिस्तान का मकसद इसकी आड़ में सीमा पार से भारत में आतंकियों की घुसपैठ कराने की होती है। बीते दिनों पाकिस्तानी सेना की ओर से शाहपुर, कीरनी, कसबा में भी गोलाबारी की गई थी।

58 साल पहले 1962 में भी चीन ने भारत के साथ बड़ा धोखा करते हुए हमला कर दिया था। इस युद्ध को 1962 के भारत-चीन युद्ध के नाम से जाना जाता है। दोनों देशों के बीच करीब एक महीने तक यह लड़ाई चली थी और आखिरकार 21 नवंबर को चीन ने भारत के साथ युद्धविराम की घोषणा की थी।

बीएसएफ के उपनिरीक्षक राजेश मिश्रा ने कहा कि हमारे बहादुर जवान डोभाल ने गोलाबारी में बुरी तरह से जख्मी होने के बावजूद पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया हैं। वह सबसे बड़ी श्रद्धांजलि के हकदार हैं।

मास्को में रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की देखरेख में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों में 10 घंटे बातचीत हुई थी। लावरोव ने कहा कि यह संघर्षविराम विवाद निपटाने के लिए बातचीत का मार्ग खोलेगा।

भारतीय सेना ने पाकिस्तान की नापाक हरकत का करारा जवाब दिया, लेकिन इस कार्रवाई में सेना के तीन जवान शहीद हो गए। बताया जा रहा है कि आठ महीनों में पाकिस्तान ने 3,000 से अधिक बार सीजफायर का उल्लंघन किया है।

पाकिस्तान ने एक बार फिर से सीजफायर का उल्लंघन किया है। पाक ने जम्मू-कश्मीर के माछिल सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान की तरफ से की जा रही गोलीबारी का भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है।