chamki fever

स्वास्थ्य विभाग ने उत्तराखंड के इस जिले में चमकी बुखार को लेकर अलर्ट जारी किया है। इसलिए माता-पिता को अपने बच्चों की देखभाल करने की बहुत आवश्यकता है।

बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास के इलाकों में अक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम यानी चमकी बुखार की वजह से अब तक करीब 112 बच्चों की मौत हो चुकी है।

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से अबतक 129 बच्चों की मौत हो गई है। आज मुजफ्फरपुर पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ गुस्साए लोगों ने मुर्दाबाद और वापस जाओ के नारे लगाए।

बिहार के मुजफ्फरपुर में सैकड़ों बच्चे एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) यानी चमकी बुखार की चपेट में हैं। मुजफ्फरपुर में इस बुखार से मरने वालों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है और ये संख्या 107 हो गई है, वहीं अस्पतालों में भर्ती बीमार बच्चों की संख्या बढ़कर 414 हो गई है।

मुजफ्फरपुर में रहस्‍यमय 'चमकी बुखार' का कहर बढ़ता ही जा रहा है। चमकी बुखार से अब तक 66 बच्चों की मौत हो चुकी है। शनिवार सुबह तक यहां के विभिन्‍न अस्‍पतालों में भर्ती 13 और बच्‍चों ने दम तोड़ दिया है।