CHILD

देश के पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का शनिवार को निधन हो गया। लेकिन जेटली को उनके नेक कामों के लिए हमेशा याद किया जाएगा। जेटली अपने निजी स्टाफ के मदद के लिए कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाते थे।

अभी तक आप महिलाओं के गर्भवती होने की खबर सुनते आ रहे होंगे, लेकिन पिछले दिनों जारी हुए एक रिपोर्ट से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। इस रिपोर्ट में सामने आया है कि ऑस्ट्रेलिया में पिछले 22 का पुरुष प्रेग्नेंट हुए और इन्होंने बच्चों को जन्म दिया।

इस परम्परा पर यहां के ग्रामवासियों का अटूट विश्वास उनके अनुसार यह हमेशा सही होता है। चांद पहाड़ मूल रूप से नागवंशी राजाओं के मनोरंजन पार्क के रूप में विकसित किया गया था।

अगर किसी मासूम को बच्चे को भूख लग जाती है तो मां को दूध पिलाने (ब्रेस्टफीड कराने) के लिए एक कूना ढूंढना पड़ता है। अगर वह खुले में किसी के सामने बच्चे को दूध पिलाती है तो लोगों उसको लोगों लेकर तरह-तरह की बातें करने लगते हैं।

काकोरी से अपह्रत किये गये बच्चे को एसपी ग्रामीण के नेतृत्व में गठित क्राइम ब्रांच की एस-30 टीम ने मंगलवार को काकोरी थाने जाने वाले रास्ते पर जॉगर्स पार्क के पास झाड़ियों से गंभीर घायल अवस्था में बरामद कर लिया है। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने इंस्टाग्राम पर एक छोटे बच्चे के साथ अपनी एक प्यारी तस्वीर शेयर की। इसके साथ ही प्रधानमंत्री लिखा कि एक बहुत ही खास दोस्त आज संसद में मुझसे मिलने आया।

शादी के बाद हर किसी की संतान की इच्छा होती है। हालांकि कुछ लोग शादी के एक दो साल में ही माता-पिता बन जाते हैं, तो कोई कुछ सालों के बाद बनता है। हम उन 5 भारतीय क्रिकेटर के बारे में बात करेंगे जो शादी के कई साल बाद भी निसंतान हैं।

बच्चे एक बार फिर से पढ़ाई में जुटने वाले हैं। अगर बच्चा पढाई से दूर भागता है तो घर में मौजूद वास्तु दोष इसका कारण हो सकता है। आसपास मौजूद नकारात्मक ऊर्जा भी बच्चों को एकाग्रता से दूर ले जा सकती है।

यूपी के जनपद कासगंज में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां मासूम बच्चे के सौतेले पिता ने शरारत करने पर उसकी पीट -पीट हत्या कर दी। मासूम बच्चे को ज़मीन पर पटक कर उसके पेट पर खड़ा हो गया। जिससे बच्चे की मौके पर मौत हो गईं।

बच्चों के कमरे के वास्तु का भी ध्यान रखना चाहिए। बच्चों के कमरे की सजावट उनके अनुकूल होना जरूरी है, तभी वे निरोगी रहेंगे। बच्चों के कमरे में रोशनी और प्राकृतिक उजाले का होना बहुत जरूरी है।