CHILD

इस घटना की जानकारी जब बच्चे के मामा को हुई तो उसने 26 दिसंबर को बुलढाणा के बोरखेड़ी पुलिस स्टेशन में एक कम्पलेंन दर्ज करा दी। जिसमें उसकी सौतेली पर आरोप लगाया गया।

पुलिस अब इस मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि इस गंभीर मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

सोसायटी के लोगों ने बताया कि बच्चे की मां नर्स का काम करती हैं, जबकि उसके पापा एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं। पिता, फिलहाल कोरोना काल के चलते वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं।

पांच वर्षीय दीपू बीते दिन शाम को अपने घर के बाहर खेल रहा था। तभी वहां पड़ोस में रहने वाली महिला सीता आ गई। वह बच्चे को बहला-फुसलाकर अपने घर के अंदर लेकर चली गई।

स्पेशल फील कराना ज़रूरी है।उनकी पसंद-नापसंद को महत्व दें। जैसे, उनसे पूछें कि वो पहले खाना पसंद करेंगे या खेलना? ऐसे सवाल पूछने से बच्चों को लगता है कि घर में उनकी राय की भी अहमियत है।

दरअसल, मामला बुधवार को फरीदाबाद का है। बुधवार को बल्लभगढ़-पलवल रेलवे ट्रैक पर एक मालगाड़ी राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से आगरा की ओर जा रही थी।

वैसे तो सभ्य समाज में बेटा हो या बेटी कहा जाता है दोनों बराबर होते हैं, लेकिन प्रेग्नेंसी के वक्त हर कोई जानने को उत्सुक रहता है कि गर्भ में पल रहा शिशु का लिंग क्या है मेल या फीमेल। गर्भ में पल रहे बच्चे को लेकर हर किसी को क्यूरिसटी होती है  इसके लिए देश में कई तरह की परंपराएं प्रचलित है

कहते हैं प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती। वहीं आज के सोशल मीडिया के जमाने में कोई भी व्यक्ति अपने टैलेंट को दर्शाने के लिए किसी मंच के लिए मजबूर नहीं है। ऐसे ही एक गांव के टैलेंटेड बच्चे का शानदार डांस वीडियो इंटरनेट पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस बच्चे के डांस पर बॉलीवुड के बड़े -बड़े कलाकार फ़िदा हो गए

ज्यादातर बच्चे स्कूल जाने के नाम से कतराते हैं पैरेंट्स उनके रोज़ के ना-नुकुर से परेशान होते हैं। कई बार तो वे समझ ही नहीं पाते कि बच्चा ऐसा व्यवहार क्यों कर रहा है। बच्चे के मन में क्या चल रहा है ये जानने के लिए कुछ बातों समझनी जरूरी हैं।  कुछ ऐसी बातें, जो शायद बच्चे की ना का कारण हो।

पंजाब के पठानकोट का एक मामला सामने आया है। पठानकोट में सात साल के मासूम को अचानक से सांस लेने में परेशानी हुई और उसकी मौत हो गई। देश में लॉकडाउन की वजह से सारी व्यवस्थाएं अस्त-व्यस्त है।