child study

ऐसे में पेरेंट्स पर बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। सभी माता-पिता की चाहत होती है कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर भविष्य में नाम कमाएं। लेकिन इस पढ़ाई-लिखाई के साथ ही कुछ नया करने की चाह होना भी जरूरी हैं। ऐसे में पेरेंट्स को बच्चों को पढ़ाते समय कुछ टिप्स आजमाने चाहिए

जयपुर: बच्चे अगर पढ़ाई में कमजोर हैं या उनकी गतिविधियां सुस्त और असामान्य हैं तो इसे अनदेखा न करें। बच्चों को कभी भी एकाकीपन का शिकार न होने दें। वास्तु में इसके लिए कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं, जिनकी मदद से बच्चे संस्कारी, तंदुरुस्त और कुशाग्र बुद्धि पा सकते हैंजानते हैं इन आसान …