Chinese army

भविष्य की चुनौतियों और चीन की घुसपैठ की आशंका को दूर करने लिए, अप्रैल 2020 की स्थिति में सैन्य स्थिति की बहाली के लिए एक जांच आयोग गठित किया जाना चाहिए ताकि 1999 में जिस तरह पाकिस्तानी सैनिकों ने घुसपैठ की थी ऐसी स्थिति यहां न दोहराई जाए।

भारत को उकसाने वाले इस वीडियो में बड़ी संख्‍या में ल्‍हासा में टैंक को दिखाया है। वीडियो में चीन के नए टैंक की तरह लग रहे हैं। कई मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि चीन ने सीमा के पास अलग-अलग स्थानों पर टैंकों और हथियारों की तैनाती कर रखी है।

भारत और चीन के बीच जारी विवाद के जल्द खत्म होने की तो अब उम्मीद नजर नहीं आ रही है। मई से जारी इस विवाद को लेकर कई बार दोनों देशों के बीच हुई वार्ता से भी कई मसला नहीं निकल पाया है। LAC पर सेना को पीछे करने की कोशिशों को लेकर हुई बातचीत में भी अभी तक कोई परिणाम नहीं निकल पाया है।

भारत सीमा पर एक से बढ़कर एक मिसाइलों की तैनाती कर रहा है। इसके साथ ही वैज्ञानिक और नई तकनीकी की मिसाइलों के परीक्षण में लगे हुए हैं।इसी सिलसिले में भारत ने बृहस्पतिवार को राजस्थान के पोखरण में तीसरी पीढ़ी की टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल ‘नाग’ का सफलतापूर्वक अंतिम परीक्षण किया गया है।

चीन ताइवान पर हमले की तैयारी कर रहा है। ड्रैगन ने ताइवान से लगती सीमा पर DF-17 मिसाइल, लड़ाकू विमान J-20 और S-400 एयर डिफेंस सिस्टम को तैनात किया है। आशंका जताई जा रही है कि चीन कभी भी ताइवान पर हमला कर सकता है।

अपनी नापाक हरकतों को कायम रखते हुए चीनी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भारतीय सीमा के काफी नजदीक मिसाइलें दागी हैं। चीन द्वारा रॉकेट लॉचर से बार-बार गोले दागने की वजह से लद्दाख (Laddakh) के पहाड़ थर-थरा गए हैं।

बता दें कि चीन डोकलाम के विवाद के बाद से ही भारत-तिब्बत बॉर्डर पर अपनी वायुसेना के मूवमेंट को बढ़ा दिया है। पिछले तीन साल में ये सर्विलांस सिस्टम बढ़ाया गया है। चीन लगातार यूएवी के जरिए भारतीयों पर नज़र रख रहा है, जो उसने लहासा, हूतान, वुडून, अकेसू जैसे इलाकों में तैनात किए हैं।

पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने पहली बार अपने लद्दाख से सटे तिब्‍बत के नागरी इलाके में सैनिकों के लिए नए आधुनिक बैरक बनाए हैं और भारी तोपें तैनात की हैं।

भारत और चीन के बीच अब 12 अक्टूबर को सातवीं बार बातचीत की तैयारी हो रही है। हालांकि चीन अपनी मांगों को लेकर टिका हुआ है। उसने सीमा पर पीछे हटने के लिए शर्त बढ़ा दी है। 

भारत चीन तनाव के बीच चीनी सेना का एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो को PLA एयर फोर्स ने बनाया है। जिसे उन्होंने अपने आधिकारिक वीबो हैंडल पर शेयर भी किया।