cji

सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की संविधान पीठ ने अपने फैसले से आज सदियों पुराने विवाद का अंत कर दिया। लोगों के मन में सवाल होगा कि इस फैसले के लेखक ने किस तरह सदियों पुराने विवाद पर फैसले को 929 पन्नों के फैसले में उतारा। पीठ ने फैसला सर्वसम्मति से लिया है।

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई ने जस्टिस शरद अरविंद बोबडे(SA Bobde) को अगला सीजेआई बनाने की केंद्र सरकार से सिफारिश की है। सुप्रीम कोर्ट के नए चीफ जस्टिस की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद पर सुनवाई शुरू हो गई है। हिंदू और मुस्लिम पक्ष ने अपनी ओर से लिखित बयान अदालत में पेश किए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान किसी भी टोका-टाकी पर रोक लगाया है।

अयोध्या में राम मंदिर मामले पर सुनवाई कर रहे सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को साफ कर दिया कि इस मामले पर 18 अक्टूबर के बाद पक्षकारों को जिरह के लिए एक भी दिन अतिरिक्त समय नहीं दिया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने साफ-साफ कहा कि सुनवाई पूरी करने की अंतिम तारीख नहीं बढ़ाई जाएगी।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति श्री नारायण शुक्ल (एसएन शुक्ल) की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है। भ्रष्टाचार के आरोप में जनवरी 18 से चीफ जस्टिस ने न्यायिक कार्य करने पर रोक लगा रखी है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक जज को हटाने के लिए महाभियोग प्रक्रिया शुरू करने की सिफारिश की है।

 प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने वाली उच्चतम न्यायालय की एक पूर्व कर्मी ने मंगलवार को फैसला किया कि आंतरिक जांच समिति के सामने अब और पेश नहीं होगी

उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को स्पष्ट किया कि वह एक अधिवक्ता के इस दावे की तह तक जायेगा कि प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को यौन उत्पीड़न के आरोप में फंसाने की एक बड़ी साजिश है।

उच्चतम न्यायालय ने यौन उत्पीड़न के आरोप में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को फंसाने की एक बड़ी साजिश के एक वकील के दावे के संबंध में सीबीआई, आईबी और दिल्ली पुलिस के प्रमुख को उसके समक्ष उपस्थित होने और मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीशों से उनके चैम्बर में जाकर मिलने का बुधवार को निर्देश दिया।

नई दिल्ली: न्यायमूर्ति रंजन गोगोई की मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि अदालत का मानना है कि इस मामले में इस समय हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता।  यह याचिका विचार योग्य …