congress party

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने आम्बेडकर प्रतिमा पर धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकारें सामाजिक न्याय और आरक्षण की मूल भावना पर लगातार हमला कर रही है। बीते साल अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम में बदलाव की कोशिश की थी।

छत्तीसगढ़ कोटे से राज्यसभा में पांच सीटें हैं। वर्तमान में तीन पर बीजेपी और दो पर कांग्रेस पार्टी के सदस्यों का कब्जा है। अप्रैल में दो सीटें खाली हो रही हैं। छत्तीसगढ़ से राज्यसभा में कौन जाएगा, इसको लेकर माथा-पच्ची कांग्रेस में अभी से शुरू हो गई है।

शून्यकाल में कांग्रेस के दीपक सिंह व नसीमुद्दीन सिद्दी ने प्रदेश में किसानों के फसलों का लागत मूल्य दिलाये जाने का मामला कार्यस्थगन के रूप में उठाया। ग्राहय्ता पर सपा के नरेश उत्तम, लीलावती कुशवाहा, कांग्रेस के नसीमुद्दीन सिद्दीकी तथा दीपक सिंह ने विचार किये।

गार्गी कालेज में सरेआम असामाजिक तत्वों का दीवाल फांदकर घुसे और सैकड़ों की संख्या में मौजूद छात्राओं के साथ पुलिस और सैकड़ों लोगों के सामने घण्टों दुर्व्यवहार, छेंड़छाड़ और अश्लीलता की तथा जो छात्रायें वाशरूम में थी उनके साथ आपत्तिजनक व्यवहार किया गया।

वर्ष 1992 में ’इंदिरा साहनी जजमेंट’ में सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय लिया था कि यदि आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थी अनारक्षित वर्ग के अभ्यर्थी से ज्यादा अंक प्राप्त किए तो उसका अंतिम चयन अनारक्षित वर्ग में कर दिया जाएगा।

हम बात कर रहे हैं पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और नरसिम्हा राव के राजनीतिक सलाहकार जितेन्द्र प्रसाद की । जितेन्द्र प्रसाद की कोठी थाना सदर बाजार के कलेक्ट्रेट परिसर के पीछे स्थित है। इस कोठी में जितेन्द्र प्रसाद का परिवार रहता है। तो इसी अहाते में दूसरी कोठी में जितेन्द्र प्रसाद के छोटे भाई जयेंद्र प्रसाद अपने परिवार के साथ रहते है।

कर्जमाफी के नाम पर किसानों को भाजपा सरकार ने छला है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं हुआ। योगी सरकार में गन्ने का एक रुपया दाम नहीं बढ़ा। धान खरीद के नाम पर सरकार और बिचैलियों की साठ-गांठ के चलते किसान 1400-1500 रुपये में धान बेंचने को मजबूर हुआ है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने राजधानी लखनऊ में बुधवार से आयोजित हो रहे डिफेन्स एक्सपो पर सवाल उठाते हुए मंगलवार को कहा कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार डिफेन्स एक्सपो के नाम पर अरबों रुपये ब्रान्डिंग के नाम पानी की तरह बहा रही है।

किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सबसे पहले लागत कम करना जरूरी है जो पिछले छह वर्षों में बढ़कर दुगुने से अधिक हो गया है, उर्वरक, बीज, कीटनाशक, सिंचाई, डीजल, बिजली आदि के दामों में दो गुने से अधिक की वृद्धि हो चुकी है जबकि उस अनुपात में उसके उत्पाद का मूल्य नहीं बढ़ा है।

पूर्व सांसद डॉ संतोष सिंह ने कांग्रेस नेतृत्व पर हमला बोलते हुए कहा कि आज कांग्रेस नेतृत्व को बाहरी तत्वों द्वारा गुमराह कर कांग्रेस पार्टी को कमज़ोर किया जा रहा है । पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा की प्रदेश स्तर पर वर्तमान कांग्रेसी नेता कांग्रेस के संविधान की धज्जियां उड़ा रहे है ।