congress working committee

इसके बाद भी राहुल गांधी अपनी बात पर अड़े रहे। फिर सीडब्ल्यूसी की दूसरों बैठक हुई। इस दौरान भी उनसे आग्रह किया गया कि वह अध्यक्ष पद को न छोड़े लेकिन इस बार भी वो नहीं माने। अब सवाल खड़ा हुआ कि गांधी परिवार से ऐसा और कौन है जो ये ज़िम्मेदारी उठा सकता है।

शनिवार को दिनभर में कई परामर्श बैठके हुईं। इसके बाद रात में सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई तो पार्टी के नेताओं ने राहुल गांधी से दोबारा अपने फैसले पर सोचने को कहा और उनसे यह भी आग्रह किया गया कि वह वापस से अध्यक्ष पद ग्रहण करें लेकिन राहुल गांधी ने साफ मना कर दिया।

पार्टी के नये अध्यक्ष को लेकर मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत और सुशील कुमार शिंदे सहित कई वरिष्ठ नेताओं के नामों की चर्चा है। सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर अगले कुछ दिनों के भीतर निर्णय हो जाएगा।

सीडब्ल्यूसी की बैठक से पहले शुक्रवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी से मुलाकात भी की। मुलाक़ात के दौरान कई नेताओं के नाम पर चर्चा भी हुई। हालांकि, उम्मीद जताई जा रही है कि पार्टी अध्यक्ष अब गांधी परिवार से नहीं होगा।

कर्नाटक के सियासी संकट को लेकर शनिवार को पार्टी के 'वॉर रूम' में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई थी। इस बैठक में कांग्रेस के कई दिग्गज नेता शामिल हुए थे। अहमद पटेल, मोतीलाल वोरा, मुकुल वासनिक, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, पी चिदंबरम, आनंद शर्मा, जितेंद्र सिंह, दीपेंद्र हुड्डा इस लिस्ट में शामिल थे।

बैठक के दौरान पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि हमें राज्यों में स्थानीय नेतृत्व को मजबूत करना चाहिए। सबसे अंत में बोलते हुए राहुल ने सिंधिया की इस बात का जवाब देते हुए नाराजगी में कटाक्ष किया और कहा, "क्या हमें इसलिए राज्यों में नेतृत्व को मजबूत करना चाहिए कि मुख्यमंत्री अपने बेटे की टिकट के लिए दबाव बनाएं?”

आज कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में मनमोहन-सोनिया ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा निशाना साधा।कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि इस समय लोगों को यूपीए सरकार की उपलब्धियां बताने की जरूरत है।

लोकसभा चुनाव का बिगुल बजते ही राजनीतिक दलों ने अपनी चाल तेज कर दी है।एक दूसरे पर भारी पड़ने के लिए राजनीतिक दलों ने अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है।आज कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में मनमोहन-सोनिया ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा निशाना साधा।

लोकसभा चुनाव का बिगुल बजते ही राजनीतिक दलों ने अपनी चाल तेज कर दी है।एक दूसरे पर भारी पड़ने के लिए राजनीतिक दलों ने अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। कांग्रेस पार्टी आज 58 साल बाद गुजरात में अपनी वर्किंग कमेटी की बैठक करेगी।