convicts

भारत में साल 2002 में हुए गुजरात दंगों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान 17 दोषियों को सशर्त जमानत दे दी हैं।

निर्भया रेप केस में चारों दोषी एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में क्यूरेटिव पिटीशन (Curative petition) दाखिल कर सकते हैं।

पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के एक अन्य दोषी मुकेश सिंह की याचिका पर सुनवाई के दौरान दोषियों की फांसी पर स्टे लगा दिया है। कोर्ट के फैसले के बाद अब साफ है कि दोषियों को 22 जनवरी को फांसी नहीं होगी।

दिल्ली में साल 2012 में हुए निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को जल्द फांसी की सजा होने की संभवाना है। मुकेश, पवन और विनय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है, जबकि अक्षय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। लेकिन अभी यह जानकारी नहीं है कि सुप्रीम कोर्ट इस पर कब सुनवाई करेगा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने शनिवार को बयान देकर फिर सुर्खिया बटोर ली है। भागवत ने कहा- कि कैदियों को गाय की सेवा का काम देने से उनकी अपराध करने की मनोवृत्ति कम होती है।

लखीमपुर-खीरी: पिपरी नारायनपुर के चार साल पुराने गैंगरेप और सुसाइड केस में फास्ट ट्रैक कोर्ट से गुरुवार को फैसला आया। कोर्ट ने सात आरोपियों को दोषी ठहराते हुए 10-10 साल की सजा सुनाई है। जज नीलू मोघा ने विक्टिम के टीचर मोहइयतदीन, उसके साथी मकसुदुर्रहमान, दिलीप कुमार, धनंजय, राम नारायण, गुड्डू और प्रधान अनूप वर्मा …