corona vaccination

कोरोना वायरस को भारत में पैर पसारे एक साल होने वाला है, वही दूसरी तरफ एक बार फिर कोरोना संक्रमण तेज़ी से बढ़ रहा है। पिछले कुछ दिनों में ही कोरोना के दैनिक मामले 16,000 से ज्यादा देखने को मिले।

भारत में एक मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू होने वाला है। जिसमें दूसरे चरण में 60 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी। इसके साथ ही उन लोगों को भी इस फेज में शामिल किया जाएगा जो 45 से 59 साल के हैं और किसी तरह की गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं।

देश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू होने वाला है। सरकार की ओर से कोविड-19  टीकाकरण के लिए लॉन्च CoWIN ऐप पर वैक्सीन लगवाने के लिए आप खुद ही एक मार्च से रजिस्ट्रेशन भी करा सकेंगे। 

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन ने कहा कि फ्रंट लाइन वर्कर्स के कोविड-19 टीकाकरण के चालू सत्रों के साथ ही तीसरे चरण के टीकाकरण की कार्ययोजना भी बना ली जाए।

देश में अब एक मार्च से 60 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन दिया जाएगा। एक मार्च से ही 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन की डोज देना शुरू कर दिया जाएगा।

महाराष्ट्र के ही 34 जिलों में कोरोना का कहर जारी है। इसके अलावा कर्नाटक के 16, हरियाणा, पंजाब, छत्तीसगढ़, गुजरात और बिहार के 4-4, जबकि केरल के दो जिले शामिल हैं। यहां बीते कुछ दिनों से रोजाना संक्रमितों की संख्या ठीक होने वाले मरीजों से ज्यादा है।

उत्तर प्रदेश तीन करोड़ से अधिक कोविड-19 का टेस्ट करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। पिछले 24 घंटे में अब तक कोरोना सेे संक्रमित 81 नये मामले आये हैं।

कोरोनावायरस टीकाकरण  को लेकर लोगों के बीच कई तरह की भ्रांतियां जन्म ले चुकी हैं जैसे कोरोना से एक बार संक्रमित हो चुके लोगों को टीका लेने की आवश्यकता नहीं है लेकिन यह पूरा सच नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 की संक्रमण दर में उल्लेखनीय गिरावट आने के बावजूद अभी कोरोना संक्रमण समाप्त नहीं हुआ है। उन्होंने कोविड-19 से बचाव और उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने को कहा है।

टीके से शरीर में दो तरह की इम्युनिटी पैदा होती है। एक इफेक्टिव इम्युनिटी और दूसरी स्टरलाइजिंग इम्युनिटी। स्टरलाइजिंग इम्युनिटी वायरस से पूरी तरह सुरक्षा मुहैया कराती है।