Corona vaccine

मेरिका के सीडीसी के अनुसार फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन से कई लोगों में गंभीर एलर्जी की शिकायत पाई गई है। सीडीसी की सलाह है कि अगर वैक्सीन के इस्तेमाल से अगर किसी भी इनग्रेडिएंट से अगर किसी को एलर्जी है तो उसे वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि इस टीका पर दूसरे चरण का परीक्षण आगामी मार्च माह में किए जाने की उम्मीद है।

कोरोना वायरस संक्रमण को भारत में पैर पसारे एक साल होने वाला है। अब धीरे-धीरे स्थिति में सुधार आ रहा है। वही बुधवार को हिमाचल प्रदेश में दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हुई।

उत्तराखण्ड में 16 जनवरी 2021 से आरम्भ होने वाले कोविड-19 वैक्सीन टीकाकरण अभियान के बारे में स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी द्वारा सचिवालय स्थित मीडिया सेन्टर में प्रेसवार्ता की गई।

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि, देश में दो कंपनियों की वैक्सीन को अनुमति दी गई है। टीकाकरण को लेकर देशभर में कई प्रकार के सवाल उठ रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण के लिए ’कोविशील्ड’ के तीन लाख से अधिक टीके बुधवार को पूना से रायपुर पहुंच गए। केंद्र सरकार ने प्रदेश के लिए तीन लाख 23 हजार वैक्सीन दिए हैं। 27 बॉक्स आज दोपहर इंडिगो के विशेष विमान से माना एयरपोर्ट रायपुर पहुंचें।

भारत में कोरोना वैक्सीन का इंतज़ार अब खत्म हुआ। 16 जनवरी से टीकाकरण प्रक्रिया शुरू होने जा रहा है। सीरम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने बताया कि फरवरी में कोविशील्ड की 5.6 डोज़ की डिलीवरी होगी।

बाजार में एक बार पांच तरह के टीके उपलब्ध हो जाते हैं तो इनकी कीमतों में भी कमी आएगी। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य सरकारों के साथ मिलकर टीके की कीमतों पर विचार करेंगे।

कोरोना वायरस संक्रमण से मची तबाही के बाद इसके मामलों में कमी आने लगी है। वही कई देशों में कोरोना वैक्सीन देने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। भारत में भी इसका ड्राई रन तेज़ी से चल रहा है।

कोविड 19 की वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) की पहली खेप लखनऊ पहुँच गई है। यह वैक्सीन लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट (अमौसी एयरपोर्ट) पर विशेष विमान से लाई गई है। इस दौरान सीआईएसएफ का विशेष दस्ता सुरक्षा व्यवस्था सम्भल रहा है।