Corona vaccine

लोगों के उम्मीद पर पानी फेरते हुए ब्रिटेन के एक मंत्री द्वारा बयान दिया गया है कि इस साल के अंत तक कोरोना की वैक्सीन पाना मुश्किल है।

जर्मनी की संस्था फेडरल इंस्टीट्यूट ने जानकारी देते हुए बताया कि जर्मनी सरकार द्वारा इस संस्था को मनुष्यों पर वैक्सीन का परिक्षण करने अनुमति दे दी गई है।

कोरोना को हराने के लिए वैज्ञानिक लगातार कोशिश कर रहे हैं। दुनिया के कई देश इससे लड़ने के लिए दवा बनाने का काम तेजी से कर रहे हैं। हालांकि अब...

WHO के दूत डेविड नैबारो ने चेतावनी दी है कि लोगों को कोरोना के खतरे के साथ ही जीना होगा। सफलतापूर्वक वैक्सीन तैयार कर लेने की कोई गारंटी नहीं है।

कोरोना वायरस (कोविड-19) का संक्रमण वैश्विक स्तर पर 19 लाख से ज्यादा लोगों को पीड़ित कर चुका है, जबकि 1.26 लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। दुनिया भर के वैज्ञानिक इस जानलेवा महामारी का तोड़ तलाशने में जुटे हुए हैं।

देश ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए अपना टीका तैयार कर लिया है। देश का पहला टीका है जो कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने में पूरी तरह सफल होगा।

भारत ने अमेरिका की मांग को पूरा कर दिया है। इस बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर ने डोनाल्ड ट्रंप से सवाल किया है कि क्या भारत को कोरोना की वैक्सीन देगा अमेरिका?

चीन से फैला कोरोना वायरस पूरी दुनिया में अपने पैर पसार चुका है। वहीं दुनिया के तमाम देश के वैज्ञानिका कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार करने में जुटे हुए हैं।

चीन ने 17 मार्च को कोरोना वायरस के लिए बनाई वैक्सीन का इंसानों पर परीक्षण शुरू किया। और अब इस परीक्षण के परिणाम भी सामने आने लगे हैं।