Corona virus vaccine

प्रधानमंत्री द्वारा कोरोना वैक्सीन टीकाकरण का उदघाटन करते ही जनपद जौनपुर में चार केन्द्रों पर कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण का कार्य चिकित्सकों एवं प्रशासनिक अधिकारियों की देख रेख में शुरू किया गया।

कोरोना का टीका देश के लोगों को कैसे सुलभ करवाया जाएगा, इसके लिए केंद्र का स्वास्थ्य मंत्रालय पूरा इंतजाम कर रहा है लेकिन टीके के बारे में तरह-तरह के विचार भी सामने आ रहे हैं। कई वैज्ञानिकों का कहना है कि भारत में बने इस टीके का वैसा ही कठिन परीक्षण नहीं हुआ है, जैसा कि कुछ पश्चिमी देशों के टीकों का हुआ है।

मंगलवार को साझा बयान जारी कर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने पूरे देश में सही तरीके से कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के प्रयासों की बात कही है।

डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अगर वयस्कों पर वैक्सीन का अच्छा रिजल्ट देखा जाता है तो ही बच्चों को वैक्सीन लगेगी। इसके बाद प्रेग्नेंट औरतों को इसे दिया जाएगा।

 मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के वैक्सीन ना लगवाने वाले बयान पर कहा कि उनका ये ऐलान ठीक नहीं है। वैक्सीन को किसी पॉलिटिकल पार्टी ने नहीं जोड़ा जाना चाहिए

अखिलेश यादव ने अयोध्या में भूमि अधिग्रहण में सरकारी ज्यादती का शिकार हो रहे लोगों का पक्ष लिया और कहा कि सरकार को अगर विकास कार्यों के लिए किसानों की जमीन चाहिए। तो बाजार मूल्य पर ही लिया जाना चाहिए।

Dr.Harsh Vardhan का ऐलान: पहले फेज में 3 करोड़ लोगों को फ्री Vaccine, ये राज्य होंगे शामिल…

सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी की मीटिंग में वैक्सीन के इस्तेमाल को इजाजत दी गई है। बता दें कि भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बना रहा है।

भारत में वैक्सीन आने से पहले इसके टीकाकरण अभियान की तयारी में जुट गया है। आज से वैक्सीन का 48 घंटे तक बड़ा मॉक ड्रिल शुरू हो रहा है।

अमेरिका के दो हेल्थ वर्कर्स में कोरोना वायरस वैक्सीन फाइजर की खुराक लेने के कुछ समय बाद ही साइड इफेक्ट देखने को मिले हैं। उन्हें एलर्जी की पहले से कोई परेशानी नहीं थी।