Corona virus vaccine

रूस ने दावा किया है कि उसने कोरोना वैक्सीन का ट्रायल सफलपूर्वक पूरा कर लिया है। रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय के इस दावे के बाद दुनिया भर में एक नई उम्मीद जग चुकी है।

कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए कोरोना संक्रमण से प्रभावित इलाकों के वॉलेंटियर्स को वैक्सीन का डोज देना होता है, इसलिए चीन विदेशों में वैक्सीन ट्रायल शुरू करने की तैयारी कर रहा है।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के एक शीर्ष अधिकारी का कहना है कि अभी तक ऐसा कोई प्रयोग नहीं हुआ है, जिससे यह विश्वास हो सके कि कोरोना वायरस की वैक्सीन बन चुकी है।

इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रही है। इस बीच एक अच्छी खबर सामने आई है। दरअसल, रूस ने कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार कर ली है और अब इसका क्लीनिकल ह्यूमन ट्रायल शुरू किया है।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिट में कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन की खोज के लिए जो टीम बनाई गई है, उसमें एक भारतीय मूल की भी वैज्ञानिक शामिल हैं, जिनका नाम है चंद्रबली दत्ता। दत्ता कोलकाता की जन्मी हैं और इस वक्त वैक्सीन की खोज में जुटी हुई हैं।

इजरायल के रक्षामंत्री नैफताली बन्नेट ने दावा किया है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार कर ली गई है। रक्षामंत्री का कहना है कि इजरायल इंस्टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रिसर्च (IIBR) ने कोरोना वायरस की वैक्सीन विकसित कर ली है।

कोरोना वायरस की यह वैक्‍सीन एक महीने के शोध के बाद सफलतापूर्वक तैयार किया गया है। इसमें इबोला के टीकों का भी अध्‍ययन किया गया है।