covid-19

चेंबूर, तिलक नगर, मुलुंड जैसे क्षेत्रों में पहले से ही पाबंदिया लागू हैं। मुंबई में 20 फरवरी को कोरोना के 897 नए केस मिले जबकि तीन संक्रमित लोगों की मौत हो गई थी।

महाराष्ट्र के कई लोगों का मानना है कि शायद कुछ चुनिंदा जगहों पर लॉकडाउन लागू कर दिया जाए। क्योंकि मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

पिछले 24 घंटे में ही कोरोना वायरस से संक्रमण के 13,993 नए मामले सामने आए और 101 मरीजों ने इसकी वजह से दम तोड़ा। इसी के साथ देश में कुल संक्रमितों की संख्या 1,09,77,387 हो गई है।

महाराष्ट्र में कोरोना एक बार फिर से लोगों को डराने लगा है। करीब ढाई महीने के बाद एक बार फिर से 5,000 से अधिक नए मामले सामने आएं हैं। अकोला प्रखंड में अकेले 1,258 नए मरीज मिले हैं।

बीते 24 घंटे में 11,805 मरीज कोरोना से रिकवर हुए हैं और अस्पताल से ठीक होकर अपने घऱ लौट आएं हैं। देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 97.32 प्रतिशत हो गई।

महाराष्ट्र में सोमवार 15 फरवरी को 3365 नए केस सामने आये थे और इसी दिन 23 मौतें हुईं थीं। महाराष्ट्र में रिकवरी दर 95.7 फीसदी है और मृत्यु दर 2.49 फिसदी है। 

इसके लिए विपक्षी दलों ने अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। 18 फरवरी सरकार के खिलाफ माहौल बनाने के लिए सपा के विधायक साइकिल से विधानभवन पहुँचेंगे।

छत्तीसगढ़ में अब तक तीन लाख 9 हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जबकि 3,777 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बावजूद भी आम लोगों के साथ शासन और प्रशासन लापरवाह बने रहे। सोमवार को प्रदेश में 274 नए मामले आए और मरने वालों की संख्या पांच रही।

डॉक्टरों की भी नींद उड़ी हुई है। उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि कहीं एक बार फिर से कोरोना पुरानी वाली स्थिति में न पहुंच जाए। कोरोना विकराल रूप न धारण कर लें।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि जरूरी नहीं है कि पहली डोज लेने के 28वें दिन ही दूसरी डोज लेनी है, चााहें तो आने वाले एक हफ्ते के भीतर दूसरी डोज ली जा सकती है।