covid-19

मिजोरम में कोविड-19 के 18 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमण के मामले बढ़कर शनिवार को 3,806 हो गए। नए मामलों में चार सुरक्षा कर्मी भी शामिल हैं।

न्यूयॉर्क की एक महिला को मसूड़ों में दर्द होने के बाद दांत झड़ने की शिकायत पाई गई। महिला ने बताया कि वह मुंह में विंटरग्रीन ब्रेश मिंट ली। मुंह में लेते ही उसे अपने दांतों में थोड़ा झनझनाहट महसूस हुआ। थोड़ी बाद उसे पता चला कि उसके दांत हिल रहे है। महिला को लगा यह नॉर्मल है, शायह ब्रेथ मिंट खाने के कारण हो रहा है, लेकिन जब वह अगली सुबह उठी, तो उसका अचानक ही झड़ गया।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश के कई राज्यों ने फिर से पाबंदिया लगाना शुरू कर दिया है। इसके तहत कई अन्य राज्यों में भी नाइट कर्फ्यू लगाया गया है।

भारत समेत कई देशों के लिए एक और डराने वाली खबर सामने आई है। कोरोना वायरस के कारण भारत, अमेरिका और यूरोप में कई कोरोना वायरस के मरीजों में फेफड़ो में बड़ी दिक्कत होने की समस्या सामने आ रही है। अगर ये समस्या गंभीर हुई तो मरीज की मौत भी हो सकती है।

“कोरोना” एक नाम हो गया, जिसका जिक्र अगर इतिहास में भी हो, तो सुनकर रूह तक कांप जाएगी। इस महामारी ने कई मां-बाप को अपने संतान से अलग कर दिया । वो संतान जिसके लिए मां-बाप ने कई सपने सजो कर रखे थे। कितने मां-बाप तो अपने जन्म हुए बच्चे को देख भी नहीं पाए, वजह तो सिर्फ “कोरोना”।

सीरम इंस्टीट्यूट ने ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के साथ साझेदारी की है। इनमें कोविशील्ड के टीके का परीक्षण चल रहा है।

अदालत ने ये भी कहा कि कई लोगों की जान जाने और कोर्ट की फटकार के बाद आप ने आरटीपीसीआर टेस्ट बढ़ाया। दिल्ली हाईकोर्ट केजरीवाल सरकार के जवाब से संतुष्ट नहीं थी।

जिसे देख उत्तराखंड सरकार ने यह फैसला लिया है। उत्तराखंड में 528 कोरोना नए मरीज मिले है। उत्तराखंड में अबतक कोविड-1 के मरीजों की संख्या 72,160 पहुंच गया है। तो वही 65,703 मरीज ठीक हो चुके है। कोरोना से मरने वालीं की संख्या 1180 तक पहुंच चुकी है।

कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता अहमद पटेल अब इस दुनिया में नही रहे। पिछले एक महीने से वह कोरोना से संक्रमित होने की वजह से बुधवार तड़के उन्होंने आखिरी सांसें लीं। जिसके बाद से पटेल परिवार इस वक़्त सदमे में है।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोषाध्यक्ष और आठ बार के सांसद अहमद पटेल के निधन को कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। 71 वर्षीय अहमद पटेल को गांधी परिवार का काफी करीबी भी माना जाता था।