cows

योगी सरकार के लाख प्रयासों के बाद सड़कों को छोड़िए, सरकारी आश्रय में गोवंश किस हाल में उनका ये जानकर गी सरकार की इस ओर गंभीरता का पता चलता है।

इन छेदों के कारण दिमाग धीरे-धीरे खराब होने लगता है और इसके बाद अन्य समस्याएं होती हैं। ये बीमारी किसी भी उम्र व लिंग के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है।

इसलिए विशेष तरह का प्रमाण पत्र अब जारी किया जाता है। इस पत्र में लिखा होता है कि गाय की स्वभाविक मृत्यु के बाद इसे दफनाने ले लिए ले जाया जा रहा है।’

आवारा एवं छुट्टा पशुओं की समस्या से निपटने के लिए प्रदेश सरकार स्थाई एवं अस्थाई गोशालाओं के निर्माण पर खासा जोर दे रही है। इसके लिए सभी जिलों में दस – दस करोड़ रुपये दिए जाने की बात कही जा रही है। ‘अपना भारत’ ने कुछ जिलों में पड़ताल की तो ये असलियत सामने आई …

मुंबई: शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सोमवार को कहा कि गाय की रक्षा के नाम पर भारत अब विश्व में महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित देश बन गया है और सभी को इसके लिए शर्मिदा होना चाहिए। यह भी पढ़ें: बीजेपी: स्मार्टफोन और बाइक सवार कार्यकर्ता सरकार की योजनाओं का करेंगे प्रचार उद्धव ने 27 जुलाई …

पटना: बिहार सरकार ने सड़कों पर लावारिस घूम रहे साढ़ों और नर बछड़ों की संख्या कम करने और राज्य में दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कृत्रिम गर्भाधान के जरिए गायों की संख्या बढ़ाने की योजना बनाई है। इसके तहत राज्य के कुछ जिलों में विशेष कृत्रिम गर्भाधारण विधि से अधिक गायों का …

देशभर में गोरक्षा का मुद्दा छाया हुआ है। भारत-बांग्लादेश सीमा पर गाय संरक्षण और पशुओं की तस्करी का मामला पिछले पहले कई सालों से चला आ रहा।

बरेली: थाना देवरनियां के गांव गनुनगला में ईद की नमाज से पहले मस्जिद में तकरीर के वक्त एक मौलाना ने मंदिर और गाय पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। मौलाना ने कहा कि मंदिर शैतान का घर है और मस्जिद खुदा का घर है। मौलाना ने कहा कि  गाय 5 लीटर दूध देती है तो उसे …

फिरोजाबाद: थाना रामगढ़ के महादेव नगर में देर रात 40 गायों से भरा ट्रक अचानक पलट गया। इससे करीब एक दर्जन गायों की मौत हो गई। मृत गायों को देख भीड़ आक्रोशित हो गई। कुछ लोगों ने ट्रक में आग लगा दी। घटना के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी हुई है। क्‍या है …

Irfan Pathan महोबा: सूखे बुंदेलखंड में महोबा की हालत बदतर है। इंसान से लेकर जानवर तक सभी सूखे की मार झेल रहे हैं। जानवरों के लिए भूसे तक का इंतजाम नहीं हो रहा। वह भूख से दम तोड़ रहे हैं। बेजुबान जानवरों की ये हालत देख दिल्ली के दो दोस्त आगे आए हैं। उन्‍होंने न …