cricket

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी बीते साल हुए वर्ल्‍ड कप के बाद से ही क्रिकेट से दूर हैं और वो आईपीएल के जरिए मैदान पर वापस आने की तैयारी कर रहे थे। लेकिन कोरोना वायरस के चलते आईपीएल को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया।

पूर्व महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने शुक्रवार को कोविड-19 वायरस से लड़ने के लिए 50 लाख रुपये दान करने की घोषणा की।

कई बल्लेबाज खराब गेंद का इंतजार करते रहते हैं। भले ही पूरी पारी समाप्त हो जाए लेकिन वे छक्का मारने में विश्वास नहीं रखते। भारत सहित दुनिया में कई क्रिकेटर हुए हैं जिनके बल्ले से छक्का बड़ी मुश्किल से निकलता था।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान  रिकी पोंटिंग की बतौर बल्लेबाज और बतौर कप्तान अहमियत किसी से छिपी नहीं है. तस्मानिया के दायें हाथ के इस बल्लेबाज ने अपने करियर में कई बड़े मुकाम हासिल किए। ऑस्ट्रेलिया ने पोंटिंग की कप्तानी में साल 2003 और 2007 में लगातार दो विश्व कप भी जीते. यहां तक कि

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए महान क्रिकेटर शेन वॉर्न की डिस्टलरी में अब एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर बनाना शुरू कर दिया है, जो पहले ‘जिन’ (एक तरह की शराब) बनाती थी. इस महामारी से अब तक पूरी दुनिया में दो लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और 9000 लोगों की जान चली गई है।

कोरोना वायरस महामारी ने  बीसीसीआई के ऑफिस पर ताला लगा दिया है। मंगलवार से मुंबई में अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की सलाह देते हुए अपना मुख्यालय बंद करने पर मजबूर कर दिया है। इसके साथ ही क्रिेकट संचालन को फिलहाल अगले आदेश तक रोक दिया गया है।

खेल पर कोरोना वायरस का पूरा प्रभाव पड़ा  है। खेल आयोजन रद्द किए जा रहे हैं। टी20 लीग को पहले ही 15 अप्रैल तक निलंबित कर दिया गया है। इतना ही नहीं, बीसीसीआई ने साउथ अफ्रीका सीरीज के बाकी दो वनडे मुकाबले भी रद्द कर दिए। ये मैच 15 और 18 मार्च को क्रमश: लखनऊ और कोलकाता में होने थे। इसके बाद अब घरेलू टूर्नामेंट भी रोक दिए गए हैं।

भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए एक क्रिकेट मैच में इरफान पठान ने ऐसा जोरदार छक्का जड़ा कि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी हैरान रह गए। ये मैच हो रहा है अनएकेडमी रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में इंडिया लीजेंड्स और श्रीलंका लीजेंड्स के बीच। टीम इंडिया ने श्रीलंका को पांच विकेट से हरा दिया।

वसीम जाफर ने 1996 से 2020 तक करीब 24 साल फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेली है। 42 साल के वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी 2019-20 के सीजन में भी कई मैचों में हिस्सा लिया था। वसीम ने 260 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिनमें 19410 रन 50.67 के औसत से बनाए हैं।