crop

कोरोना के संकट से जूझ रहे प्रदेश के लोगों को इस बार आम भी खाने को नहीं मिलेंगे। क्योंकि इस बार आम की फसल कम है और फसल पर ध्यान न देने के कारण आम की पैदावार भी काम होने की पूरो आशंका है।

जिस फसल को किसानों ने अपने खून-पसीने की मेहनत से तैयार किया था, वहां ओला व बारिश की आपदा गिरी। सैकड़ों अन्नदाताओं की कई एकड़ फसलें नष्ट हो गईं।

उत्तर प्रदेश के इटावा में गेहूं की फसल में आग लगने से हजारों बीघा फसल जलकर राख हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची विधायिका को ग्रामीणों का विरोध झेलना पड़ा जिसके बाद विधायिका को मौके से भागना पड़ा।

धानमंत्री किसानों की आय दुगनी करने के चाहे जितने दावे करें जमीनी हकीकत कुछ और है । बलरामपुर में गन्ना किसानों को अपनी लॉगत का मूल्य भी नही मिल पा रहा है । पिछले 2 महीने से गन्ना सप्लाई करने के बाद भी गन्ना हजारो गन्ना किसानो का एक भी पैसा नही मिला है

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गौशलाओं के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए हैं। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में गौशालाएं बनाई गई है कि जिससे आवार पशुओं को बांध कर रखा जाए, लेकिन इनमें एक भी आवारा पशु नजर नहीं आते हैं।

25 अक्टूबर (आईएएनएस)| इस साल बिहार में आई बाढ़ से प्रभावित 19 जिलों में फसलों के नुकसान की भरपाई के लिए 894 करोड़ रुपये आवंटित

रविवार सुबह जिले के कई इलाकों में बर्फ देखने को मिली। पिपराइच क्षेत्र में सुबह खेतों और पेड़ों पर हल्की बर्फ जमी हुई पाई गई। जानकार इस बर्फ को फसलों के लिए नुकसान वाला बता रहे हैं।

बुलंदशहर: ग्रेटर नोएडा, टप्पल और भट्टा पारसौल के बाद अब बुलंदशहर किसानों के बड़े आंदोलन का रण बन सकता है। हिंसक किसान आंदोलनों के लिए चर्चित किसान नेता मनवीर तेवतिया ने 5 साल अंडरग्राउंड रहने के बाद बुलंदशहर में भूख हड़ताल के साथ किसानों का आंदोलन शुरू किया है। आरोप है कि चकबंदी प्रक्रिया में कुछ …

वाराणसी: धान की पैदावार करने वाले देश के किसानों को अब सूखा पड़ने या कम वर्षा से परेशान होने की जरूरत नहीं है। बीएचयू के कृषि विज्ञान संस्थान ने धान की ऐसी पांच प्रजातियों को तैयार किया है जिनसे कम पानी व समय में ज्यादा फसल की पैदावार होगी। खास बात ये है कि इन …